Top Newsमध्य प्रदेश

भिण्ड नगरी मैं मनाया जायेगा भावालिंगी संत श्रमणाचार्य श्री 108 विमर्श सागर महाराज दीक्षा का रजत विमर्श संयमोत्सव

भिण्ड नगरी मैं संयमोत्सव “जीवन है पानी की बूँद ” महाकाव्य के मूल रचयिता भावालिंगी संत श्रमणाचार्य श्री 108 विमर्श सागर जी महामुनिराज की दीक्षा स्थली भिण्ड नगरी। पूज्य आचार्य भगवन की 25वां मुनि दीक्षा दिवस भिण्ड नगर के श्री महावीर कीर्तिस्तंभ परिसर में 12-13-14 दिसम्बर तक सम्पन्न होगा ।

सोनल जैन पत्रकार ने बताया 11 दिसम्बर को होगी महा रैली, 5 शतक बाइक होंगी शामिल रजत संयमोत्सव पर्व का भागज होगा, 11 दिसम्ब को, 500 से अधिक बाईकों के साथ प्रशासन की निगाह में अनुशासित ढंग से किला गेट से प्रारंभ होकर सम्पूर्ण नगर में भ्रमण करते हुए कीर्तिस्तंभ परिसर में पहुँचेगी।
12 दिसम्बर को आचार्य श्री विमर्शसागर जी महामुनिराज का मनाया जाएगातेहरवाँ आचार्य पदारोहण !
13 दिसम्बर को होगी श्री 1008 शान्तिनाथ दिव्यार्चना कीर्तिस्तंभ परिसर में हजारों की संख्या में एक साथ बैठकर करेंगे श्रद्वाल भक्त- गण 1008 श्री भगवान शान्तिनाथ स्वामी की महार्चना । अपने-अपने घर से लेकर पहुंचेंगे भक्तगण एक-एक मंगल कलश | सानिध्य रहेगा भावलिंगी संत आदर्श श्रमणाचार्य श्री 108 विमर्श सागर जी महामुनिराज का। मंत्रों की गूंज से गूंजेगा भिण्ड शहर। भक्तों के घर-परिवार और जीवन में होगी सुख-शान्ति-समृद्धि ।
14 दिसम्बर- गुरु विमर्शमय हो जाएगा भिण्ड नगर, रजत संयमोत्सव का होगा शंखनाद 14 दिसम्बर 1998 को भिण्ड जिले के जैन अतिशय क्षेत्र बरासों में हुईं थीं 13. मुनि दीक्षा । उन्हीं में से एक थे मुनि विमर्श सागर जी, जो आज वर्तमान समय के श्रेष्ठ संतों में से एक हैं। 14 दिसम्बर 2022 को आचार्य श्री विमर्श सागर जी मुनिराज अपनी मुनि दीक्षा के 25 वें वर्ष में प्रवेश करेंगे। गुरुदेव के इस महोत्सव में देश के हर कोने से श्रद्धालु भक्तगण आचार्य श्री के चरणों में उपस्थित होकर करेंगे गुरु चरणों में कुसुमांजलि समर्पित । रात्रि के समय होगी देश के प्रसिद्ध कलाकार रुपेश जैन द्वारा ” एक शाम भावलिंगी संत के नाम ” आयोजन की महा-आयोजना

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close