Breaking NewsTop Newsउत्तर प्रदेशदेशरोजगारवायरलशिक्षासोशल मीडिया

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार देगी UPSC परीक्षा के लिए मुफ्त में कोचिंग, युवाओं में बढ़ा उत्साह

बढ़ती मंहगाई के इस दौर में युवाओं द्वारा उच्च स्तरीय प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए कोचिंग लेना एक बड़ी चुनौती बनती जा रही है। युवाओं की इसी परेशानी को समझते हुए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार एक नई योजना लेकर आई है। इस योजना में आईएएस, आईपीएस और पीसीएस अधिकारी सीधे आपको कोचिंग देंगे, वह भी पूरी तरह निःशुल्क। योगी सरकार ने इस नई योजना का नाम ‘मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना’‌ दिया है। इसके अलावा बता दें कि इसकी पूरी कार्ययोजना मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सीधी निगरानी में तैयार की जा रही है। उत्तर प्रदेश दिवस के विशेष अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस योजना की घोषणा करते हुए बताया कि बसंत पंचमी से इसकी कक्षाएं शुरू करने की तैयारी है।

इस अभिनव कोचिंग में ऑनलाइन स्टडी मैटेरियल और लेक्चर आदि तो उपलब्ध होंगे ही, ऑफलाइन क्लास में आईएएस और पीसीएस परीक्षा के लिए प्रशिक्षु IAS, IPS, IFS(Forest service), PCS officers द्वारा मार्गदर्शन दिया जाएगा। जबकि NDA और CDS की परीक्षा के लिए प्राचार्य, उत्तर प्रदेश सैनिक स्कूल द्वारा गाइडेंस मिलेगी। नीट और जेईई के लिए अलग कक्षाएं चलेंगी। अधिकारियों के अलावा, विभिन्न विषयों के प्रतिष्ठित विशेषज्ञ भी अतिथि व्याख्याता के तौर पर आमंत्रित किए जाएंगे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की इस अभिनव योजना में हर मंडल मुख्यालय पर निःशुल्क ऑफलाइन और ऑनलाइन प्रशिक्षण तथा विभिन्न परीक्षाओं के पाठ्यक्रम व परीक्षा पैटर्न आदि के संबंध में अभ्यर्थियों को पूरी जानकारी दी जाएगी। यही नहीं, विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए उत्तर प्रदेश प्रशासन एवं प्रबन्धन अकादमी (उपाम) द्वारा क्वेश्चन बैंक, प्रश्नोत्तरी आदि भी तैयार कर वेबसाइट पर उपलब्ध कराया जाएगा। कोर्स कंटेंट यूट्यूब से भी लिया जाएगा, साथ ही, विभिन्न उच्च स्तरीय कोचिंग संस्थाओं के स्टडी मैटेरियल भी मुहैया कराए जाएंगे।

एक अनुमान के मुताबिक, हर साल उत्तर प्रदेश के करीब 4-5 लाख छात्र संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी), विभिन्न राज्य पीएससी, जेईई और नीट जैसी परीक्षाओं में शामिल होते हैं। इनमें बड़ी संख्या में अभावग्रस्त अथवा वित्तीय संसाधनों की कमी वाले परिवार के बच्चों की होती है। ऐसे बच्चों के लिए योगी सरकार की यह कोशिश बड़ा संबल प्रदान करेगी। इस कोचिंग में प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए विषय का चयन परीक्षा की तैयारी के तरीके, टिप्स, प्रश्नों के उत्तर लिखने की विधि, सामान्य अध्ययन के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा होगी। इसके अतिरिक्त, विषय विशेषज्ञ की उपलब्धता के आधार पर विभिन्न विषयों की कक्षाएं भी चलेंगी। अगर अभ्यर्थी ने इस कोचिंग का लाभ उठाते हुए सिविल सेवा परीक्षा की प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण कर ली तो मुख्य परीक्षा की और बेहतर तैयारी के लिए उत्तर प्रदेश प्रशासन एवं प्रबंधन अकादमी (उपाम) में कोचिंग की व्यवस्था कराई जाएगी।

इसके अलावा मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के स्थापना दिवस की तरह प्रत्येक जिले में स्थापना दिवस जैसे महोत्सव का आयोजन होना चाहिए। उन्होंने कहा कि 24 जनवरी 1950 को यूपी की स्थापना हुई थी। इसलिए 24 से 26 जनवरी तक यूपी दिवस मनाया जाता है। उन्होंने कहा कि जिलों में भी इस तरह के आयोजन कर हर फील्ड में अच्छा काम करने वाले लोगों को सम्मानित कर उनकी ऊर्जा का प्रदेश के विकास में उपयोग किया जा सकता है।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close