Breaking NewsTop Newsक्राइमदेशनई दिल्लीपश्चिम बंगाल चुनावमध्य प्रदेशराजनीतिवायरलसोशल मीडिया

ममता बनर्जी ने किया ‘जयश्री राम’ के नारे का विरोध तो झेलनी पड़ी आलोचना, अब MP के प्रोटेम स्पीकर ने ममता को भेजी ‘रामायण’

नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती पर पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में शनिवार को आयोजित समारोह में ‘जय श्रीराम’ के नारे लगाने को लेकर अचानक पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बीजेपी कार्यकर्ताओं पर भड़क गई। जिसके बाद बीजेपी और टीएमसी में हिन्दू धर्म और इसकी मान्यताओं को लेकर आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला शुरू हो गया है। मध्यप्रदेश विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को रामायण की एक प्रति भेज दी है। प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने कहा कि इसे पढ़ने और समझने के बाद दीदी जय श्रीराम के नारे का विरोध नहीं करेंगी।

कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मौजूदगी में ममता बनर्जी द्वारा इस तरह ‘जयश्री राम’ के नारों का विरोध करना बीजेपी को हिन्दू धर्म का अपमान महसूस हो रहा है। जिसके बाद बीजेपी नेता ममता बनर्जी की चौतरफा आलोचना कर रहे हैं।

दरअसल, कार्यक्रम के दौरान ‘जयश्री राम’ के नारे लगाने पर ममता बनर्जी ने कहा था, ”यह सरकार का कार्यक्रम है, किसी राजनैतिक दल का कार्यक्रम नहीं है। इसकी एक डिग्निटी होनी चाहिए। मैं प्रधानमंत्री जी, संस्कृति मंत्रालय की आभारी हूं कि उन्होंने कोलकाता में कार्यक्रम आयोजित किया, लेकिन किसी को आमंत्रित करके उसे बेइज्जत करना आपको शोभा नहीं देता है। जय हिंद, जय बांग्ला।”

इस मामले पर बीजेपी के दिग्गज नेता और हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने ट्वीट कर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी पर तंज कसा है। अनिल विज ने ट्वीट कर लिखा, ”ममता बनर्जी के लिए जय श्रीराम का नारा वैसा ही है जैसे सांड़ को लाल कपड़ा दिखाना होता है। यही कारण है कि ममता बनर्जी ने आज विक्‍टोरिया मेमोरियल पर अपना भाषण रोक दिया।”

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close