Breaking NewsBusinessTop NewsWorldउत्तर प्रदेशउत्तराखंडगुजरातछत्तीसगढ़जम्मू-कश्मीरदेशनई दिल्लीपंजाबपश्चिम बंगाल चुनावबिहारमध्य प्रदेशमहाराष्ट्रराजस्थानरोजगारवायरलशिक्षासाहित्यसोशल मीडियाहरियाणाहिमाचल प्रदेश

9वीं कक्षा से PhD तक के संस्कृत छात्रों को मिलेगी स्कॉलरशिप, योजना का ऐसे ले सकते हैं लाभ

दुनिया की सबसे प्राचीन भाषा और देववाणी कही जाने वाली संस्कृत भाषा को एक नया मुकाम देने के लिए केंद्रीय मानव संसाधन एवं विकास मंत्रालय ने नई पहल की है। HRD मंत्रालय की ओर से चलाए जाने वाले केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय ने संस्कृत भाषा को बढ़ावा देने के लिए संस्कृत पढ़ने वाले मेधावी छात्रों को सालाना स्कॉलरशिप देने का फैसला लिया है। सेंट्रल संस्कृत यूनिवर्सिटी की ओर से जारी नोटिफिकेशन के अनुसार 9वीं से पीएचडी तक के संस्कृत छात्रों को प्रति वर्ष 5 हजार से 25 हजार रुपए तक की स्कॉलरशिप दी जाएगी। इसके लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। बता दें कि इस स्कॉलरशिप के लिए सिर्फ ऑनलाइन एप्लीकेशन ही मान्य होंगे। कोई भी डाक द्वारा भेजा जाने वाला आवेदन पात्र स्वीकार नहीं किया जाएगा।

इंटर तक के छात्रों की छात्रवृत्ति के लिए केवल संस्कृत विषय के अंकों के आधार पर प्रेफरेंस ऑर्डर तैयार किए जाएंगे, लेकिन संस्कृत ऑनर्स के लिए पूर्व के सभी विषयों के पूर्णांक पर वरीयता क्रम निर्धारित होंगे।

संस्कृत भाषा पढ़ने वाले विद्यार्थियों को स्कॉलरशिप हेतू अप्लाई करने के लिए सबसे पहले सेंट्रल संस्कृत यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट sanskrit.nic.in पर जाना होगा। यहां होमपेज पर स्कॉलरशिप एप्लीकेशन के लिंक पर क्लिक करें। यहां Apply for Scholarship के ऑप्शन पर क्लिक करें। क्लिक करने के बाद अपनी मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी की मदद से लॉगइन कर लें।

अगर इन छात्रवृत्ति की नियमावली की बात की जाए तो इसके लिए पिछली कक्षा में ऑप्शनल विषय के रूप में 100 अंकों की संस्कृत भाषा लेनी होगी। संस्कृत भाषा की परीक्षा में सामान्य वर्ग के छात्र का न्यूनतम 60 फीसदी अंक होना चाहिए। वहीं ओबीसी छात्र के लिए 55 प्रतिशत और एससी/एसटी और दिव्यांग श्रेणी के लिए 50 प्रतिशत अंक अनिवार्य है। बता दें कि जुलाई में डीबीटी के जरिए भुगतान किया जाएगा।

क्लास 9वीं और 10वीं के छात्रों के लिए 05 हजार रुपए, 11वीं और 12वीं के लिए 06 हजार रुपए, 08 हजार रुपए अंडर ग्रेजुएशन के चाहतरों के लिए तय की गई है। इसके अलावा 10 हजार रुपए पोस्ट ग्रेजुएशन और 25 हजार रुपए पीएचडी या उसके समकक्ष के छात्रों के लिए निर्धारित हुई है।

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close