Breaking NewsTop Newsउत्तर प्रदेशछोटा पर्दादेशनई दिल्लीमनोरंजनराजनीतिवायरलसिनेमासोशल मीडिया

संसद में सबसे ज्यादा सवाल पूछने वाले रवि किशन उत्तर प्रदेश के नंबर वन सांसद बने

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के संसदीय क्षेत्र से बीजेपी की टिकट पर पहली बार जीतकर संसद भवन पहुंचने वाले सांसद और फिल्म अभिनेता रवि किशन ने सतर्क एवं जिम्मेदार जनप्रतिनिधि होने का परिचय देते हुए एक बेहतरीन उपलब्धि हासिल की है। सांसद रवि किशन ने अपने पहले ही संसदीय कार्यकाल में देशभर में सांसदों की रैकिंग में उत्तर प्रदेश का सम्मान बढ़ाया है। लोकसभा में सांसदों की सक्रियता को लेकर रैकिंग में रवि किशन ने संसद में सबसे अधिक प्रश्न पूछने के मामले में उत्तर प्रदेश में पहला और देश भर में 24वां स्थान हासिल किया है।

 

संसद द्वारा विभिन्न मानकों पर सांसदों की रैकिंग घोषित होने के बाद सांसद रवि किशन ने इसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं गोरखपुर की जनता के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि संसदीय क्षेत्र के विकास और यहां की समस्याओं के निस्तारण के लिए सदैव तत्पर रहता हूं। गोरखपुर में विकास के नए आयाम स्थापित हों, इसके लिए मैने संसद में हमेशा यहां की जरूरतों और समस्याओं का मुद्धा उठाया है। उन्होंने कहा कि गोरखपुर में मत्स्य विश्वविद्यालय की मांग हो, दूरदर्शन के उत्थान की बात हो, रेलवे के विकास, सड़कों के निर्माण, शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि अथवा महिला सशक्तीकरण का विषय हो सब पर अपनी बात संसद में रखी है। रवि किशन ने कहा कि संसदीय क्षेत्र ही नहीं, बल्कि देश की समस्याओं पर भी सबका ध्यान आकर्षित कराया है। उन्होंने कहा कि देश में भारी संख्या में बोली जाने वाली भोजपुरी को आठवीं अनुसूची में शामिल करने का मुद्दा भी संसद में उठाया।

पहली बार सांसद बने रवि किशन ने कहा कि संसद में विकास से संबंधित सवाल जरूर करना चाहिए। इससे बहुत फायदा होता है। पहली बार इसका अच्‍छा अनुभव हुआ है। इसलिए हम अपने क्षेत्र के विकास के लिए लगातार संसद में सवाल करते रहेंगे। उन्‍होंने कहा कि संसद बनने के बाद यह अनुभव अनूठा रहा। उन्‍होंने कहा कि वैसे गोरखपुर के विकास के लिए मुख्‍यमंत्री ही हमेशा लगे रहते हैं। उन्‍हीं की कृपा से गोरखपुर में तमाम विकास योजनाएं चल रहीं हैं। आज गोरखपुर का नाम पूरी दुनिया में हैं। गोरखपुर मत्स्य विश्वविद्यालय की मांग हो या दूरदर्शन के उत्थान व रेल-सड़क मार्ग के विकास का मामला। सभी मुद्दों व मांगों को प्रमुखता से सदन के समक्ष रखा हूं।

ड्रग्स की लत से बर्बाद हो रहे युवकों की बात हो अथवा नारी शोषण हो, मुखर रहे। ड्रग्स के खिलाफ अकेले ही उन्होंने संसद में आवाज उठाई है। बताया जा रहा है कि ड्रग्स का मुद्धा उठाने पर सांसद रवि किशन के हाथों से कई फिल्मी प्रोजेक्ट निकल गए। रवि किशन को इसका अंदाजा था लेकिन परवाह नहीं की। नई पीढ़ी को बचाने के लिए सरकार से ड्रग के धंधे पर सख्ती से काबू की मांग की है। रवि किशन के इस स्टैंड की सराहना भी हुई थी।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close