Breaking NewsTop Newsछोटा पर्दादेशनई दिल्लीमनोरंजनमहाराष्ट्रराजनीतिवायरलव्यापारसिनेमासोशल मीडिया

Covid-19 जागरुकता कॉलर ट्यून से अमिताभ बच्चन की आवाज हटाने के लिए दिल्ली हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर

वैश्विक महामारी कोरोनावायरस से बचाव हेतू जागरूकता फैलाने के लिए भारत में कॉलर ट्यून में सदी के महानायक अमिताभ बच्चन की आवाज में रिकॉर्ड किया हुआ संदेश सुनने को मिलता है। देश में कुछ लोगों को Covid-19 जागरुकता कॉलर ट्यून में अमिताभ बच्चन की आवाज से असहजता महसूस होने लगी है जिसके लिए बहुत बार सोशल मीडिया पर भी चर्चा की जा चुकी है। अब दिल्ली हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई है। दिल्ली के सामाजिक कार्यकर्ता राकेश द्वारा दायर याचिका को दिल्ली हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश डीएन पटेल और न्यायाधीश ज्योति सिंह की पीठ ने सुनवाई के लिए इसे 18 जनवरी के लिए सूचीबद्ध किया है, क्योंकि याचिकाकर्ता के वकील ने शारीरिक सुनवाई में असमर्थता व्यक्त की थी।

एडवोकेट ए.के दुबे और एडवोकेट पवन कुमार के माध्यम से दायर याचिका में कहा गया है, “भारत सरकार कॉलर-ट्यून पर निवारक उपायों के संबंध में आवाज देने के लिए अमिताभ बच्चन को भुगतान कर रही है।” याचिका में कहा गया है, “कुछ कोरोना योद्धा हैं जो राष्ट्र की सेवा कर रहे हैं और इस कठिन समय में गरीब और जरूरतमंद लोगों की मदद कर रहे हैं और साथ ही उन्हें भोजन, कपड़ा और आश्रय प्रदान कर रहे हैं तथा यहां यह उल्लेख करना अपरिहार्य है कि कुछ कोरोना योद्धाओं ने अपनी कम आय को भी गरीब और जरूरतमंद लोगों में बांट दिया”

 

याचिका में कहा गया है कि कुछ प्रसिद्ध कोरोना योद्धा अब भी बिना किसी भुगतान के अपनी सेवाएं देने और राष्ट्र की सेवा के लिए तैयार हैं। विभिन्न अदालतों में उनके खिलाफ लंबित कई मामलों का जिक्र करते हुए याचिका में आरोप लगाया गया है, “अमिताभ बच्चन का इतिहास बहुत साफ नहीं है और साथ ही वह सामाजिक कार्यकर्ता होने के नाते राष्ट्र की सेवा नहीं कर रहे हैं।” याचिकाकर्ता ने कहा कि उन्होंने नवंबर 2020 में अधिकारियों को ज्ञापन दिया लेकिन उन्हें कोई जवाब नहीं दिया गया जिसके बाद उन्होंने अपनी शिकायत लेकर अदालत का दरवाजा खटखटाया।

बता दें कि इससे पहले एक सोशल मीडिया यूजर ने ट्विटर पर अमिताभ बच्चन से कोरोना कॉलर ट्यून को बंद करने की गुजारिश की थी। इस पर उन्होंने ट्वीट कर बताया था कि उन्होंने ये काम निःशुल्क किया है। बिग बी ने ट्वीट कर कहा- कॉलर ट्यून मेरा निर्णय नहीं है। मुझसे सरकार ने कहा कि कोरोना काल के चलते हम चाहते हैं कि कुछ WHO की तरफ से एक कैंपेन के लिए ये शब्द बोल दीजिए। इसे में हम एक वीडियो के रूप में देशभर में चलाएंगे। इसलिए मैंने कर दिया। अब उन्होंने इसे कॉलर ट्यून बना दिया है। अब मैं क्या कर सकता हूं?” इसके आगे अमिताभ बच्चन ने लिखा, “मैं देश, प्रांत व समाज के लिए जो भी करता हूं वो निशुल्क करता हूं, कोई लिखित पढ़ित नहीं होती, बस कर देता हूं। यदि आपको कष्ट हो रहा तो मैं क्षमा प्राथी हूं। लेकिन ये विषय मेरे हाथों में नहीं है।”

बता दें कि मुंबई में तेजी से फैले कोरोना वायरस संक्रमण के दौरान बॉलीवुड स्टार अमिताभ बच्चन अपने परिवार के कई सदस्यों के साथ खुद भी चपेट में आ गए थे। इनमें उनका बेटा अभिषेक बच्चन और बहू ऐश्वर्या राय भी शामिल हैं। ये सभी मुंबई के अस्पताल में भर्ती हुए थे, जहां पर इन सबका इलाज चला था।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close