Breaking NewsBusinessTop NewsTravelउत्तर प्रदेशउत्तराखंडगुजरातछत्तीसगढ़जम्मू-कश्मीरदेशनई दिल्लीपंजाबबिहारमध्य प्रदेशमहाराष्ट्रराजनीतिराजस्थानवायरलव्यापारसोशल मीडियाहरियाणाहिमाचल प्रदेश

पीएम माेदी ने इलेक्ट्रिक डबल स्टैक कंटेनर वाली मालगाड़ी को दिखाई हरी झंडी, हरियाणा को मिली सौगात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीरवार 7 जनवरी को सुबह 11 बजे वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के जरिए वेस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर (डब्ल्यूडीएफसी) के 306 किलोमीटर लंबे न्यू रेवाड़ी-न्यू मदार खंड को देश को समर्पित किया। इस कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री न्यू अटेली से न्यू किशनगढ़ के लिए इलेक्ट्रिक ट्रैक्शन द्वारा चलने वाली 1.5 किलोमीटर लंबी दुनिया की पहली डबल स्टैक लॉन्ग हॉल कंटेनर ट्रेन को भी हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। न्यू रेवाड़ी-न्यू मदार सेक्शन के उद्घाटन के मौके पर रेल मंत्री पीयूष गोयल, राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र और हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण राव उपस्थित रहे। इसके अलावा राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर भी उपस्थित रहे।

 

डेडिकेटिड फ्रेट कॉरिडोर के न्यू अटेली और न्यू किशनगढ़ से डबल स्टैक डेढ़ किलोमीटर लंबी कंटेनर रेलगाड़ियों के शुभारंभ कार्यक्रम का भी आगाज हो गया। दादरी-मुंबई रेलवे कॉरिडोर जून 2022 तक बनकर तैयार होगा। दादरी (यूपी)-रेवाड़ी, रेवाड़ी-इकबालगढ़ (गुजरात) व इकबालगढ़-मुंबई इन 3 फेज में बहुत ही तेज गति से काम हो रहा है। तीनों फेज में 55 प्रतिशत से अधिक काम पूरा हो चुका है। डेडिकेटिड फ्रेट कॉरिडोर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (नोएडा यूनिट) के अतिरिक्त मुख्य परियोजना प्रबंधक योगेंद्र पाल शर्मा ने बताया कि इससे नूंह समेत देश के विकास को बड़ी गति मिलेगी। डबल स्टैक कंटेनर फ्रेट ट्रैफिक (माल ढुलाई) को संचालित करने के लिए भारतीय रेलवे मुंबई-दादरी तक डबल लाइन रेलवे ट्रैक का निर्माण कर रही है। इसे लेकर भारतीय रेलवे ने भारत सरकार की परियोजना डेडकेटिड फ्रेट कॉरिडोर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (नोएडा यूनिट) की नींव रखी।

यह दादरी-मुंबई के बीच लगभग 1800 किलोमीटर का ट्रैक है। दादरी (यूपी)-रेवाड़ी (128 किलोमीटर) के बीच लगभग 55 प्रतिशत कार्य पूरा हो चुका है। इस फेज में 365 पुल (भूमिगत व अपर) बनेंगे। काफी पुल बन चुके हैं। एक टनल बन चुकी है, जिसका जुलाई में शुभारंभ भी हो चुका है। साथ ही लगभग 3 किलोमीटर लंबा वायडक्ट (बड़ा पुल) भी बनाया जा चुका है। वहीं, रेवाड़ी से इकबालगढ़ (गुजरात) व इकबालगढ़-मुंबई के बीच भी 50 प्रतिशत कार्य पूरा हो चुका है।

बता दें कि प्रधानमंत्री ने गुरुवार को जिस रेवाड़ी-मदार सेक्शन का उद्घाटन किया, वह रेवाड़ी-इकबालगढ़ के बीच का हिस्सा है। इसके बाद सरकार की ओर से मदार-इकबालगढ़ सेक्शन 31 मार्च तक व इकबाल-मुंबई सेक्शन को जून 2022 तक शुरू करने करने की समय सीमा निर्धारित है। जापान और भारत की एक कंपनी निर्माण कार्य कर रही है।

उल्लेखनीय है कि मालगाड़ी के लिए देश में पहला इस तरह का ट्रैक होगा। वर्तमान में दिल्ली-मुंबई व्यस्त रूट होने की वजह से मालगाड़ी को पहुंचने में 6-7 दिन का समय लगते हैं। लेकिन इस ट्रैक के बन जाने पर 19 घंटे में ये सफर पूरा होगा। रेवाड़ी-दादरी के बीच जो ट्रैक बनेगा वह रेवाड़ी, तावडू (नूंह) गुड़गांव, पलवल, फरीदाबाद, अलवर, गौतमबुद्ध नगर से होकर गुजरेगा।

 

प्रधानमंत्री मोदी ने बुधवार को कार्यक्रम के बारे ट्विटर पर जानकारी देते हुए ट्वीट किया था, ‘इलेक्ट्रिक ट्रैक्शन से चलने वाली 1.5 किमी लंबी दुनिया की पहली डबल स्टैक लॉन्ग हॉल कंटेनर ट्रेन को गुरुवार (आज) को झंडी दिखाई जाएगी। यह फिर से आर्थिक गतिविधियों को लाभान्वित करेगा और कई नागरिकों के लिए समृद्धि सुनिश्चित करेगा।’ मोदी ने अगले ट्वीट में लिखा, ‘भारत के विकास के लिए अगली पीढ़ी के इन्फ्रा पर निरंतर ध्यान केंद्रित करना है। 7 जनवरी को सुबह 11 बजे वेस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर (डब्ल्यूडीएफसी) का रेवाड़ी-मदार खंड राष्ट्र को समर्पित किया जाएगा। इससे स्थानीय उद्योग और कनेक्टिविटी को फायदा होगा।’

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close