Breaking NewsBusinessTop Newsक्राइमछोटा पर्दादेशपंजाबमनोरंजनमहाराष्ट्रवायरलव्यापारसिनेमासोशल मीडिया

रिहायशी इमारत को होटल में तब्दील करने पर BMC ने सोनू सूद के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत

वैश्विक महामारी कोरोनावायरस के दौरान देशभर में घोषित लॉकडाउन में प्रवासी मजदूरों, असहाय छात्रों और गरीब लोगों की मदद करने वाले बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद के खिलाफ बीएमसी ने शिकायत दर्ज कराई है। जानकारी के मुताबिक, एक्टर सोनू सूद ने जुहू में स्थित एक छह मंजिला आवासीय इमारत को बिना अनुमति के होटल में तब्दील कर लिया है। बीएमसी का कहना है कि एक्टर सोनू सूद ने ऐसा करने से पहले कोई परमिशन नहीं ली है। बीएमसी ने पुलिस में दर्ज शिकायत में कहा है कि सोनू सूद के खिलाफ महाराष्ट्र रीजन ऐंड टाउन प्लानिंग ऐक्ट के तहत एक्शन लिया जाना चाहिए। बीएमसी ने कहना है कि एक्टर ने महाराष्ट्र रीजन ऐंड टाउन प्लानिंग ऐक्ट के सेक्शन 7 के तहत दंडनीय अपराध किया है।

 

बीएमसी की तरफ से 4 जनवरी को जुहू पुलिस स्टेशन पर दर्ज कराई गई शिकायत में कहा गया है कि सोनू सूद ने एबी नायर रोड पर स्थित शक्ति सागर बिल्डिंग को बिना परमिशन के ही होटल में तब्दील कर लिया है। नियमों के मुताबिक, शक्ति सागर एक रिहायशी बिल्डिंग है और उसका कॉमर्शियल उद्देश्य से इस्तेमाल नहीं किया जा सकता। बीएमसी ने अपनी शिकायत में कहा है कि ये पाया गया है कि सोनू सूद ने खुद ही जमीन के इस्तेमाल में बदलाव कर लिया है। इसके अलावा तय प्लान से अतिरिक्त निर्माण कराते हुए रिहायशी इमारत को रेजिडेंशियल होटल बिल्डिंग में तब्दील कर लिया है। इसके लिए उन्होंने अथॉरिटी से जरूरी तकनीकी मंजूरी भी हासिल नहीं की है।

इस घटनाक्रम पर बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद ने भी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि एमसीजेडएमए की ओर से कोविड-19 महामारी के कारण इजाजत नहीं मिल पा रही थी। और किसी तरह की कोई अनियमितता नहीं की गई है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि होटल का इस्तेमाल महामारी के दौरान कोविड-19 योद्धाओं के रहने के लिए किया गया था। अगर मंजूरी नहीं मिलती है तो वह इसे दोबारा रिहायशी इमारत में बदल देंगे।

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close