Breaking NewsBusinessTechTop Newsदेशनई दिल्लीराजनीतिवायरलव्यापारसोशल मीडिया

पीएम मोदी ने नेशनल मेट्रोलॉजी कॉन्क्लेव को किया संबोधित, Made in India को बताया वैश्विक जरूरत

पीएम मोदी ने आज सोमवार को ‘नेशनल मेट्रोलॉजी कॉन्क्लेव’ में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल होकर कोच्चि-मंगलुरू गैस पाइपलाइन राष्ट्र को समर्पित की। इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि नया साल देश के लिए नई उपलब्धि लेकर आया है। नए साल पर देश को दो मेड इंन इंडिया कोरोना वैक्सीन दी गई हैं और इसके लिए वैज्ञानिकों को बधाई है। देश को अपने वैज्ञानिकों पर गर्व है और उनका योगदान हमेशा सभी याद रखेंगे।

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोनाकाल को ध्यान में रखते हुए कहा कि इस समय भारत के सामने नया लक्ष्य, नई चुनौतियां हैं और भारत उनका बखूबी सामना कर रहा है। नए दशक में क्वालिटी और माप की दिशा में नई दिशा देनी होगी। दुनिया में इस समय भारत के प्रोडक्ट्स कहां स्टैंड कर रहे हैं इसके लिए मेट्रोलॉजी का इस्तेमाल करना बेहद जरूरी है। वैश्विक बाजार का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि हमें दुनिया को केवल भारतीय उत्पादों से भरना नहीं है। हमें भारतीय प्रोडक्ट्स को खरीदने वाले हर ग्राहक की उम्मीद पर खरा भी उतरना है। हमें ब्रांड इंडिया को क्वालिटी, क्वांटिटी दोनों पैमानों पर भरोसेमंद नाम बनाना है। हमें भारतीय उत्पाद खरीदने वाले हरेक का दिल जीतना है। आत्मनिर्भर भारत का सपना पूरा करने के लिए ये बेहद जरूरी है।

पीएम मोदी ने कहा कि मेड इन इंडिया की ग्लोबल डिमांड- ग्लोबल स्वीकार्यता हो, इस दिशा में बड़े प्रयास करने होंगे। आत्मनिर्भर भारत में क्वालिटी और क्वांटिटी दोनों पर जोर होना चाहिए। हमें क्वालिटी माप के लिए विदेशी स्टैंडर्डर्स पर निर्भरता कम करनी है। लोकल को ग्लोबल बनाने की बात पर पीएम ने कहा कि नए दशक में भारत और उसके उत्पादों की ताकत बढ़ानी है। इसके लिए लोकल को ग्लोबल पहचान दिलाने का अभियान छेड़ने की जरूरत है। हमें अपने उत्पादों में सुधार के लिए पहचानना होगा, और इसके लिए टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करना होगा। नए मानकों से एक्सपोर्ट, इंपोर्ट क्वालिटी सुनिश्चित होगी। इस दशक में भारत को नई ऊंचाई देनी होगी।

 

भारत के ग्लोबल इनोवेशन रैंकिंग में टॉप 50 में पहुंचने पर पीएम मोदी ने कहा कि भारत ग्लोबल इनोवेशन रैंकिंग में टॉप 50 में पहुंचा है और देश में रिसर्च को लेकर असीम संभावनाएं हैं जिनके लिए मेट्रोलॉजी एक अच्छा टूल साबित हो सकता है। युवा नए दशक में नए भारत का निर्माण करेंगे और नए नए आविष्कार करेंगे। जैसा कि हमने देखा है कि ड्रोन का आविष्कार युद्ध के लिए हुआ था लेकिन आज उसके जरिए कई बड़े-बड़े काम हो रहे हैं।

ब्रांड इंडिया को मजबूत करने पर जोर देने की बात करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि आज भारत दुनिया के उन देशों में है जिनके पास अपने नेविगेशन सिस्टम है। आज इसी ओर एक और कदम बढ़ा है। आज जिस भारतीय निर्देशक का लोकार्पण किया गया है। ये हमारे उद्योग जगत को क्वालिटी प्रोडक्ट्स बनाने के लिए प्रोत्साहित करेगा। CSIR के वैज्ञानिक देश के ज्यादा से ज्यादा छात्रों के साथ संवाद करें , कोरोना काल के अपने अनुभवों को और इस शोध क्षेत्र में किये गए कामों को नई पीढ़ी से साझा करें। इससे आने वाले कल में आपको युवा वैज्ञानिकों की नई पीढ़ी तैयार करने में बड़ी मदद मिलेगी। हमें ये याद रखना है कि हमारे जितने पेटेंट्स होंगे, उनकी यूटिलिटी हमारे इन पेटेंट्स की होगी। हमारी रिसर्च जितने सेक्टरों में लीड करेगी, उतनी ही आपकी पहचान मजबूत होगी। उतना ही ब्रांड इंडिया मजबूत होगा।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close