Breaking NewsTop NewsWorldदेशनई दिल्लीराजनीतिवायरलसमय विशेषसोशल मीडिया

10 साल जिस दफ्तर में झाडू-पोंछा लगाया, अब वहां बैठी पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी पर, लोग कर रहे तारीफ

अगर लगातार मेहनत करते रहें तो किस्मत बदलते देर नहीं लगती है। कुछ ऐसा ही हुआ है केरल के एक ब्लॉक पंचायत के दफ्तर में। केरल के कोल्लम जिले में रहने वाली 46 वर्षीय ए. आनंदवल्ली (A Anandavalli) ब्लॉक पंचायत अध्यक्ष बनी हैं, जो इससे पहले इसी दफ्तर में झाड़ू-पोंछा लगाने का काम किया करती थीं।

बता दें कि ए. आनंदवल्ली केरल कोल्लम जिले के पठानपुरम में ब्लॉक पंचायत के दफ्तर में पिछले 10 सालों से एक कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारी के तौर काम कर रही थीं। यहां उनका काम सफाई करना और बैठकों के दौरान चाय-पानी देना होता था। अब वह इन बैठकों की अध्यक्षता करेंगी। ए. आनंदवल्ली ने बुधवार को उसी दफ्तर में बतौर ब्लॉक पंचायत अध्यक्ष पदभार संभाला है।

5वीं कक्षा तक पढ़ी ए. आनंदवल्ली हाल ही में संपन्न हुए स्थानीय निकाय चुनाव में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) के टिकट पर चुनी गईं और बुधवार को ब्लॉक अध्यक्ष का पद संभाल लिया है। स्थानीय निकाय चुनावों में आनंदवल्ली ने 654 मतों को अंतर से जीत मिली। उन्हें SC/ST महिला के लिए आरक्षित इस पद के लिए चुना गया है। अपनी इस उपलब्धि पर नवनिर्वाचित ब्लॉक अध्यक्ष आनंदवल्ली ने भावुक होते हुए कहा कि उनकी CPIM पार्टी ही ऐसा कर सकती है, मैं वास्तव में अपनी पार्टी की ऋणी हूं। उन्होंने कहा कि जब वह ब्लॉक अध्यक्ष की सीट पर पहुंची तो अपने आंसुओं को नहीं रोक पा रही थीं।

जानकारी के मुताबिक, आनंदवल्ली मार्क्सवादी समर्थक परिवार से हैं और उनके पति पेशे से चित्रकार व माकपा के सक्रिय कार्यकर्ता भी हैं। आनंदवल्ली ने साल 2011 में कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारी के तौर पर पंचायत ऑफिस ज्वाइन किया था। उस दौरान उनका वेतन 2000 रुपये प्रति माह था। फिलहाल उन्हें 6000 रुपये सैलरी मिल रही थी।

बता दें कि मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीएम) ने 21 साल की आर्या राजेंद्रन पर तिरुवनंतपुरम की अगली मेयर बनाने के लिए विश्वास जताया है। 21 वर्षीय आर्या राजेंद्रन का नाम देश की सबसे युवा मेयर के रूप में जाना जाएगा।

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close