Breaking NewsBusinessTechTop Newsदेशनई दिल्लीराजनीतिरोजगारवायरलव्यापारसमय विशेषसोशल मीडियाहरियाणा

हरियाणा सरकार को ‘डिजिटल इंडिया अवॉर्ड 2020’ से राष्ट्रपति ने किया सम्मानित, राज्य की ई-गवर्नेंस की हो रही तारीफ

हरियाणा के लोगों को परेशानी-मुक्त तरीके से नागरिक सेवाएं मुहैया करवाने के लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए ई-गवर्नेंस को लागू करने पर खट्टर सरकार के प्रयासों को केंद्र सरकार की ओर से एक बार फिर से सराहना मिली है। बता दें कि हरियाणा को इस महत्वाकांक्षी ‘अंत्योदय सरल परियोजना’ के लिए आज बुधवार को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद द्वारा ‘डिजिटल इंडिया अवॉर्ड 2020’ सम्मानित किया गया। यह पुरस्कार इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (एमईआईटीवाई) द्वारा ‘डिजिटल गवर्नेंस में उत्कृष्टता- राज्य / केंद्र शासित प्रदेश’ श्रेणी के अंतर्गत प्रदान किया गया है।

गौरतलब है कि साल की शुरुआत में, हरियाणा सरकार की अंत्योदय सरल परियोजना ने फरवरी 2020 में ई-गवर्नेंस हेतु 23वें राष्ट्रीय पुरस्कार समारोह में ‘नागरिक-केंद्रित सेवा प्रदायगी में उत्कृष्टता’ श्रेणी में भी ‘गोल्ड अवार्ड’ हासिल किया था। अब साल के अंत में हरियाणा सरकार को ‘डिजिटल इंडिया अवॉर्ड 2020’ प्रदान किया गया है।

इस उपलब्धि को लेकर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने ट्विट करते हुए लिखा,”आज हम सभी के लिए बहुत गर्व एवं ख़ुशी का दिन है। माननीय राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद जी द्वारा प्रदेश के नागरिकों को समयबद्ध और परेशानी-मुक्त तरीके से नागरिक सेवाएं उपलब्ध करवाने के लिए शुरू की गई अंत्योदय सरल परियोजना को #DigitalIndiaAward2020 से नवाजा गया है।

 

मुख्यमंत्री सुशासन एसोसिएट्स के परियोजना निदेशक डॉ. राकेश गुप्ता ने इस बारे में और अधिक जानकारी देते हुए बताया कि अंत्योदय सरल (https://saralharyana.gov.in) सरकार से नागरिक (जी2सी) सार्वजनिक सेवा प्रदायगी प्लेटफॉर्म है जोकि नागरिकों पर केंद्रित है। हरियाणा सरकार के 40 विभागों, बोर्डों, निगमों द्वारा दी जा रही 549 योजनाओं और सेवाओं के लिए नागरिक ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से या नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) पर या सरकार द्वारा संचालित 117 सरल केंद्रों में आवेदन कर सकते हैं। प्रदेश-भर में इन अन्त्योदय सरल केंद्रों द्वारा नागरिकों को आवश्यक दस्तावेजों और शुल्क आदि के संदर्भ में मानक सेवा प्रदायगी अनुभव मिलता है।

 

पोर्टल शुरू होने के बाद से, इस पर प्रदेश-भर में योजनाओं व सेवाओं के लिए 3.4 करोड़ से अधिक आवेदन प्राप्त हो चुके हैं। मासिक आधार पर अंत्योदय सरल पोर्टल के माध्यम से 5.5 लाख से अधिक आवेदन प्राप्त हो रहे हैं। इसके अलावा, नागरिकों को प्रति माह 20 लाख से अधिक प्रोएक्टिव एसएमएस भेजे जाते हैं जिनके माध्यम से उन्हें उनके आवेदन की स्थिति के बारे में सूचित किया जाता है। डॉ. राकेश गुप्ता ने बताया कि नागरिक अपने आवेदन की स्थिति ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से भी देख सकते हैं। उन्होंने आगे बताया कि यदि नागरिकों को कोई कोई शंका या शिकायत है, तो वे टोल फ्री हैल्पलाइन (1800-2000-023) पर कॉल कर सकते हैं, जहां मासिक आधार पर एक लाख से अधिक कॉल सुनी जाती हैं। इस हैल्पलाइन के माध्यम से सेवा प्रदायगी से जुड़ी 97,000 से अधिक शिकायतें प्राप्त हुई हैं, जिनमें से 96 प्रतिशत का समाधान किया जा चुका है।

 

डॉ. राकेश गुप्ता ने बताया कि नागरिकों को की जाने वाली ऑटोमेटिड आईवीआरएस फीडबैक कॉल के माध्यम से, उन्होंने अंत्योदय सरल को 5 के पैमाने पर 4.3 की समग्र संतुष्टि रेटिंग दी हैै। उन्होंने बताया कि इससे यह सुनिश्चित होता है कि नागरिकों को अब सूचना मांगने, सेवा के लिए आवेदन करने या किसी भी देरी के बारे में शिकायत करने के लिए विभाग के कार्यालयों में जाने की आवश्यकता नहीं है, वे यह सब अपने घर से ही आराम से कर सकते हैं।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close