Breaking NewsBusinessTop Newsक्राइमदेशनई दिल्लीमहाराष्ट्रराजनीतिवायरलव्यापारसोशल मीडिया

शिवसेना ने ED दफ्तर के बाहर लगाया बीजेपी का बैनर, संजय राऊत की पत्नी को ED ने जारी किया था समन

देश में जांच एजेंसियों पर अक्सर सत्ताधारी पार्टियों के इशारे पर काम करने के कथित आरोप लगते रहे हैं। जिससे पक्ष-विपक्ष में आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला शुरू हो जाता है। बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय ED ने पीएमसी बैंक घोटाले की जांच के मामले में शिवसेना नेता और राज्यसभा सांसद संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत को नोटिस भेजा था। ED ने वर्षा राउत को 29 दिसंबर को पूछताछ के लिए बुलाया है। जिसके बाद मुंबई के बलार्ड एस्टेट स्थित ED दफ्तर में शिवसेना के नेताओं ने एक बैनर लगा दिया है। जिस पर ‘बीजेपी प्रदेश कार्यालय’ लिखा हुआ है।

ED दफ्तर के बाहर बीजेपी का बैनर

शिवसेना नेता संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत को नोटिस भेजे जाने पर शिवसेना भवन में सांसद संजय राउत की प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद जबरदस्त हंगामा हुआ। वहां बीजेपी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। वहां भारी संख्या में शिव सेना कार्यकर्ता मौजूद थे, जिसमें महिला कार्यकर्ता भी बड़ी संख्या में थीं। संजय राउत ने कहा कि मेरी बीवी के पल्लू के पीछे से वार नहीं करना चाहिए, यह कायरता है। राजनीति में सामने से वार करना चाहिए। सांसद राउत ने सफाई दी कि 10 साल पहले उनकी बीवी ने घर लेने के लिए 50 लाख का लोन लिया था। वह बोले कि मेरे पास एक साल से कुछ लोग बीजेपी के परिवार से आ रहे हैं। उन्होंने बताया था कि ये सब होगा। वह बोले कि बीजेपी के नेताओ की भी बड़ी संपत्ति है और सरकार उसकी जांच करेगी। राउत ने धमकी भरे अंदाज में कहा कि मेरे पास सबके बच्चों की जानकारी है।

लेकिन उद्धव ठाकरे ने कहा है कि किसी के परिवार पर हमला नहीं करना है। बाला साहेब ठाकरे ने ये सिखाया है कि बच्चों पर परिवार पर वार नहीं करना चाहिए।

जानकारी के मुताबिक, पीएमसी मामले में प्रवीण राउत नाम के एक अन्य आरोपी की पत्नी के साथ वर्षा राउत का 50 लाख रुपये का लेन-देन हुआ है। वर्षा राउत को उसी लेन-देन के संबंध में बुलाया गया है। हालांकि, वर्षा राउत की ओर से कहा गया कि इस संपत्ति की खरीद के लिए उधार लिया गया है।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close