Breaking NewsTop Newsजम्मू-कश्मीरदेशनई दिल्लीराजनीतिवायरलसोशल मीडिया

जम्मू-कश्मीर में पीएम मोदी ने लॉन्च की स्वास्थ्य बीमा योजना की शुरुआत

जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद यह केंद्र शासित प्रदेश बन गया। जिसके तहत मोदी सरकार लगातार जम्मू-कश्मीर के विकास के लिए अनेक योजनाएं चला रही है। अब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को आयुष्मान भारत योजना के तहत जम्मू एवं कश्मीर के लिए ‘प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना‘ सेहत की शुरुआत की। इस योजना को PM-JAY के नाम से भी जाना जाता है।

 

एक अधिकारी ने कहा ‘सरकार लाभार्थी परिवारों की जानकारी जुटा रही है, जो शायद sec2011 डेटाबेस से गायब हैं।’ उन्होंने बताया ‘इससे यह तय हो सकेगा कि सभी लाभार्थियों को जल्द से जल्द योजना में शामिल किया जाए, ताकि वे मुफ्त हेल्थ केयर सेवाओं का लाभ उठा सकें।’ इस योजना को लागू करने के लिए लाभार्थियों की पहचान के उपयोग में आने वाले नेशनल हेल्थ अथॉरिटी इंफर्मेशन टेक्नोलॉजी जैसे प्लेटफॉर्म में बदलाव किए गए हैं।

प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक इस योजना में जम्मू एवं कश्मीर के सभी निवासियों को शामिल किया जाएगा तथा सभी लोगों को मुफ्त बीमा कवर प्रदान किया जाएगा। योजना की शुरूआत करने के बाद मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि आज का दिन जम्मू कश्मीर के लिए बहुत ऐतिहासिक है।

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगे कहा, ‘‘आज से जम्मू कश्मीर के सभी लोगों को आयुष्मान योजना का लाभ मिलने जा रहा है। सेहत स्कीम- अपने आप में ये एक बहुत बड़ा कदम है।’’ इस अवसर पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और जम्मू-कश्मीर के उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा ने भी समारोह को संबोधित किया। भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को याद करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि, अटल जी का जम्मू कश्मीर से विशेष स्नेह था। अटल जी इनसानियत, जम्हूरियत और कश्मीरियत की बात को लेकर हम सबको आगे के काम के लिए दिशा-निर्देश देते रहे हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि मैं जम्मू-कश्मीर के लोगों को लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए भी बधाई देता हूं, DDC के चुनाव ने एक नया अध्याय लिखा है, मैं चुनावों के हर चरण में देख रहा था कि कैसे इतनी सर्दी के बावजूद, कोरोना के बावजूद, नौजवान, बुजुर्ग, महिलाएं बूथ पर पहुंच रहे थे। जम्मू कश्मीर के हर वोटर के चेहरे पर मुझे विकास के लिए, डेवलपमेंट के लिए एक उम्मीद नजर आई, उमंग नजर आई। जम्मू कश्मीर के हर वोटर की आंखों में मैंने अतीत को पीछे छोड़ते हुए, बेहतर भविष्य का विश्वास देखा।

पीएमओ के मुताबिक इस योजना के अंतर्गत जम्मू-कश्मीर के सभी निवासियों को फ्लोटर बेसिस पर पांच लाख रुपये प्रति परिवार वित्तीय कवर उपलब्ध कराया जाएगा।

बयान के मुताबिक, ‘‘पीएम-जय के परिचालन विस्तार से 15 लाख (लगभग) अतिरिक्त परिवारों को लाभ होगा। यह योजना बीमा मोड पर पीएम-जय के साथ मिलकर संचालित होगी। इस योजना का लाभ पूरे देश में कहीं भी उठाया जा सकता है। पीएम-जेएवाई योजना के तहत सूचीबद्ध अस्पताल इस योजना के तहत भी सेवाएं प्रदान करेंगे।’’

 

सार्वभौम स्वास्थ्य कवरेज (यूएचसी) में स्वास्थ्य संवर्धन से लेकर रोकथाम, उपचार, पुनर्वास और आवश्यक, गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाओं का पूरा स्पेक्ट्रम और चिकित्सकीय देखभाल शामिल है। इसके माध्यम से सेवाओं तक सभी की पहुंच होती है, लोगों को अपनी जेब से स्वास्थ्य सेवाओं के लिए भुगतान करने की जरूरत नहीं पड़ती है और इलाज के चलते लोगों के गरीबी के दलदल में फंसने का जोखिम कम करता है। आयुष्मान भारत कार्यक्रम के दो स्तंभों- स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों और प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना- के तहत सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज हासिल करने की परिकल्पना की गई है।

 

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि, इस योजना के तहत राज्य में रहने वाले 21 लाख लोगों को स्वास्थ्य लाभ पहुंचाया जाएगा। इसके तहत प्रत्येक परिवार को 5 लाख रूपये का कवर मिलेगा। राज्य के 35 निजी अस्पलातों में भी यह सेवा उपलब्ध होगी। उन्होंने यह भी कहा कि इस योजना का लाभ जम्मू कश्मीर के प्रत्येक नागरिक को मिलेगा। उन्होंने यह भी कहा कि 26 महीनें बाद यह योजना लांच हो रही है। वहीं, कार्यक्रम में मौजूद जम्मू-कश्मीर के उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि जम्मू कश्मीर के स्वास्थय क्षेत्र में बड़ा बदलाव हुआ है।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close