Breaking NewsBusinessTechTop NewsWorldदेशनई दिल्लीवायरलशिक्षासमय विशेषसोशल मीडियाहिमाचल प्रदेश

जवाहर नवोदय विद्यालय के शिक्षक अमित कुमार को मिलेगा अमेरिका का फुलब्राइट प्रतिष्ठा पुरस्कार

देश में प्रतिभाओं की कमी नहीं है। देश का बेहतर भविष्य बनाने में जुटे रहने वाले गुणी शिक्षक बेहतर मौका मिलने पर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करते हुए देश और देशवासियों को गौरवान्वित महसूस करवाते रहते हैं। ग्रामीण क्षेत्रों से प्रतिभाशाली बच्चों को निकालकर एक बेहतरीन परिवेश देने का सपना देखते हुए पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने भारत में ‘जवाहर नवोदय विद्यालय’ की स्थापना की थी ताकि ग्रामीण इलाकों के गरीब और प्रतिभाशाली बच्चे इन विद्यालयों में शिक्षा ग्रहण करते हुए बेहतर भारत बनाने की मुहिम में अपना योगदान देते रहें। इन प्रतिभाशाली बच्चों को शिक्षित करने का जिम्मा भी गुणी शिक्षकों को सौंपा जाता रहा है। बता दें कि जवाहर नवोदय विद्यालय ठियोग(हिमाचल प्रदेश) के कंप्यूटर शिक्षक अमित कुमार का चयन राष्ट्रीय शिक्षकों के लिए शिक्षण कार्यक्रम में फुलब्राइट प्रतिष्ठित पुरस्कार 2020-21 के लिए हुआ है। युवा शिक्षण कार्यक्रम संयुक्त राज्य अमेरिका सरकार के शैक्षणिक और सांस्कृतिक मामलों के ब्यूरो की ओर से प्रायोजित है।

अमेरिका के फुलब्राइट प्रतिष्ठा पुरस्कार के लिए चयनित शिक्षक अमित कुमार

उल्लेखनीय है कि इस पुरस्कार के लिए देश के 3 शिक्षकों का चयन किया गया है। जवाहर नवोदय विद्यालय ठियोग के कंप्यूटर शिक्षक अमित कुमार को यह पुरस्कार पाठ्यक्रम और विषय शिक्षण प्रक्रिया को प्रभावशाली बनाने के लिए नवीन प्रौद्योगिकी का उपयोग कर विद्यार्थियों में सूचना और संचार प्रौद्योगिकी के प्रति जिज्ञासा उत्पन्न करने, खोज आधारित और सहयोग पूर्ण शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए दिया जा रहा है।

अमेरिका के इस फुलब्राइट प्रतिष्ठा पुरस्कार के लिए बांग्लादेश, वोत्सवाना, ब्राजील, फिनलैंड, ग्रीस, भारत, इंडोनेशिया, इस्राइल, मैक्सिको, मोरक्को, न्यूजीलैंड, फिलीपींस, सेनेगल, सिंगापुर, ताइवान, युगांडा और यूनाइटेड किंगडम के हजारों शिक्षकों ने आवेदन दिया था। इनमें से केवल 42 शिक्षकों का चयन किया गया है। चयनित शिक्षकों को अमेरिका की किसी नामित यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ एजूकेशन में एक सेमेस्टर के लिए उच्च शिक्षा प्राप्त करने का मौका मिलेगा। यह कार्यक्रम शिक्षकों को अपने विषय क्षेत्र में अधिक से अधिक विशेषज्ञता विकसित करने, शिक्षण कौशल को बढ़ाने, संयुक्त राज्य अमेरिका के बारे में ज्ञान बढ़ाने के लिए एक अवसर प्रदान करेगा।

अपनी इस उपलब्धि पर कंप्यूटर शिक्षक अमित कुमार ने बताया कि वह इस दौरान ऑनलाइन शिक्षण प्रबंधन प्रणाली को अधिक प्रभावशाली बनाने के लिए अपनी परियोजना पर काम करेंगे, ताकि सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी को शिक्षा में प्रभावी रूप से एकीकृत करते हुए देश में डिजिटल डिवाइड को खत्म किया जा सके।

साभार:सोशल मीडिया

जवाहर नवोदय विद्यालय ठियोग के कार्यवाहक प्रधानाचार्य योगेश कुमार ने अमित कुमार को बधाई देते हुए कहा कि सूचना और संचार प्रौद्योगिकी के माध्यम से आधुनिक शिक्षा को जन-जन तक पहुंचाने के लिए उनके प्रयास सराहनीय है। अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार का मिलना विद्यालय के लिए नहीं, प्रदेश के लिए गर्व की बात है।

✍️ दिनेश दिनकर

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close