Breaking NewsTop NewsTravelWorldउत्तर प्रदेशदेशनई दिल्लीपंजाबवायरलसमय विशेषसोशल मीडियाहरियाणा

अभियान फाउंडेशन शहीदी दिवस के उपलक्ष्य में श्रद्धाजंलि यात्रा ‘संरहिन्द पंजाब’ का करेगी आगाज़

अभियान फाउंडेशन के अध्यक्ष और यात्रा के संयोजक रवि दुबे ने बताया कि 4 दिवसीय ‘सरहिन्द पंजाब यात्रा’ हिन्दू धर्मरक्षक गुरू गोबिंद सिंह जी और उनके चार वीर पुत्रों बाबा अजीत सिंह, बाबा जु़झारू सिंह, बाबा ज़ोरावर सिंह, बाबा फ़तेहसिंह के शहीदी दिवस पर 28 दिसम्बर को फतेहगढ़ सहिब में आयोजित कीर्तन दरबार में मत्था टेक कर फतेहगढ़ साहिब की पवित्र भूमि से केन्द्र सरकार से आह्वान करेगी।

रवि दुबे ने आगे कहा कि गुरू गोबिंद सिंह जी और उनके परिवार के बलिदान की अमिट स्मृतियों हेतु, भावी पीढ़ी के उज्जवल भविष्य व जानकारी को पाठ्यक्रम में शामिल किया जाना चाहिए इसके साथ ही उन्होंने सरकार के सामने सात सूत्रीय मांगों को भी रखे जाने की बात कही है।
1.) सरकार के समक्ष रखी जाने वाली मांगों में बाल दिवस 14 नवम्बर की जगह गुरू गोबिंद सिंह जी के शहीद पुत्रों की स्मृति में शहीदी दिवस 26 दिसम्बर किया जाए।
2.) कक्षा 6 वीं से 8 वीं कक्षा तक के शैक्षिक पाठ्यक्रमों व सभी बोर्ड के पाठ्यक्रम में ‘चमकौर युद्ध को शामिल किया जाए।
3.) फतेहगढ़ साहिब से लेकर पटना साहिब तक एनएच-2 का नाम ‘माता गुजर कौर राजमार्ग किया जाए।
4.) गुरू गोबिंद सिंह जी व उनके परिवार का चरित्र 10वीं से 12वीं कक्षा तक के सभी पाठ्यक्रमों व सभी बोर्ड में शामिल किया जाए।

5.) चमकौर तथा फतेहगढ़ साहिब ‘सरहिन्द पंजाब’में अन्तराष्ट्रीय स्तर का स्मारक गुरू गोबिंद सिंह जी के चारो पुत्रों की स्मृति में बनाया जाये।
6.) भविष्य में कोई भी नया उपग्रह, लड़ाकू विमान, अथवा नए वैज्ञानिक अविष्कार का नामकरण गुरू गोबिंद सिंह के चारों शहीद पुत्र बाबा अजीत सिंह, बाबा जुझार सिंह, बाबा ज़ोरावर सिंह, बाबा फ़तेह सिंह के नाम पर किए जाने की मांग की है।
7.) इसके साथ ही उन्होंने कहा कि गुरू तेग बहादुर सिंह जी के 400वें प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में दिल्ली मेट्रो के ‘राजीव चौक स्टेशन का नाम बदलकर ‘गुरू तेग बहादुर चौक किया जाये।

सह संयोजक अर्जुन भल्ला ने कहा कि आगरा किले से 25 दिसंबर को आरम्भ होने वाली यह यात्रा दिल्ली मे बदरपुर इलाके से प्रवेश करेगी और बदरपुर से दिल्ली के विभिन्न स्थानों से होते हुए यह यात्रा दिल्ली स्थित गुरूद्वारा, मजनू का टीला में रात को विश्राम करेगी l सह संयोजक अर्जुन भल्ला ने यह भी कहा की दिनांक 26.12.2020 को यह यात्रा मजनू का टीला गुरुद्वारे पर एक प्रेस कांफ्रेंस करेगी और यहाँ से होते हुए सोनीपत, पानीपत, करनाल, कुरूक्षेत्र, अम्बाला, राजपुरा, से गुजरकर फतेहगढ़ साहिब ‘सरहिन्द पंजाब दिनांक 28.12.2020 को पहुँचेगी l यह यात्रा 4 राज्यों के 17 शहरों व सैकड़ों गावो से होकर गुजरेगी।
यात्रा प्रभारी शांतिदूत प्रभंजन दुबे ने बताया कि आगरा किले से गुरूद्वारा गुरू का ताल से लेकर दिल्ली तक इस यात्रा का भव्य स्वागत विभिन्न सामाजिक, सांस्कृतिक, धार्मिक संस्थाओं सहित बाजार कमेटियों, व्यापारियों व सभी धर्म प्रेमियों द्वारा किया जायेगा।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close