Breaking NewsTop Newsक्राइमदेशनई दिल्लीपश्चिम बंगाल चुनावराजनीतिवायरलसोशल मीडिया

BJP सांसद की पत्नी ने ज्वाइन की TMC तो पति ने भेजा तलाक का नोटिस, पश्चिम बंगाल की राजनीति में मचा हड़कंप

चुनावों में अक्सर पति-पत्नी के अलग-अलग राजनीतिक दलों को वोट देने की बातें सामान्य हो चली हैं। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों को लेकर तैयारियां जोरों पर चल रही है। इन तैयारियों के बीच अचानक एक ठहराव आ गया जब बीजेपी सांसद की पत्नी ने पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी पार्टी टीएमसी जॉइन कर ली। बता दें कि बिष्णुपुर लोकसभा सीट से बीजेपी सांसद सौमित्र खान की पत्नी सुजाता मंडल खान ने तृणमूल कांग्रेस पार्टी जॉइन कर ली है। जानकारी के मुताबिक, इसके बाद बीजेपी सांसद सौमित्र ने अपनी पत्नी सुजाता को तलाक का नोटिस भेज दिया।

सुजाता मंडल खान ने टीएमसी के सांसद और वरिष्ठ नेता सौगत रॉय और प्रवक्ता कुणाल घोष की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ग्रहण करते हुए कहा कि भाजपा की डर्टी पॉलिटिक्स की वजह से उन्होंने तृणमूल ज्वाइन करने का फैसला लिया है। भाजपा लुभावने सपने दिखाकर दूसरी पार्टियों के नेताओं को अपनी ओर खींच रही है। उन्होंने आगे कहा, ‘भाजपा की ओर से नेताओं को अच्छी पोस्ट देने और कुछ नेताओं को मुख्यमंत्री बनाने का वादा किया जा रहा है। पश्चिम बंगाल को सिर्फ ममता बनर्जी ही विकास के रास्ते पर आगे ले जा सकती हैं। उन्होंने कहा कि सिर्फ ममता ही राज्य को बांटने की राजनीति से बचा सकती हैं इसलिए मैं दीदी के साथ जुड़कर काफी खुश हूं। बताया जा रहा है कि तलाक का नोटिस भेजने का फैसला लेने के दौरान सुजाता खान की कार और बरजोरा स्थित घर की सुरक्षा वापस ले ली गई है।

 

उल्लेखनीय है कि शनिवार और रविवार को बीजेपी के वरिष्ठ नेता अमित शाह पश्चिम बंगाल के दौरे पर थे। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खास रहे पूर्व मंत्री शुभेंदु अधिकारी ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की मौजूदगी में शनिवार को भाजपा का दामन थाम लिया था। सांसद सुनील मंडल, पूर्व सांसद दशरथ तिर्की और 10 MLA भी भाजपा में शामिल हो गए थे। इनमें 5 विधायक तृणमूल कांग्रेस के थे। इस पर अमित शाह ने चुटकी लेते हुए कहा था कि चुनाव आते-आते दीदी (ममता बनर्जी) अकेली रह जाएंगी।

बता दें की 2019 लोकसभा चुनाव के दौरान एक कोर्ट केस के चलते बीजेपी सांसद सौमित्र को उनके निर्वाचन क्षेत्र में जाने से रोक लगा दी गई थी। तब सुजाता ने अपने पति के लिए चुनाव प्रचार किया था। सुजाता के फैसले पर सौमित्र की प्रतिक्रिया पूछने पर उन्होंने कहा कि उन्हें आगे क्या करना है, यह फैसला खुद उन्हें करना है। सुजाता मंड़ल खान एक वकील हैं और पश्चिम बंगाल में एक चर्चित नाम हैं। बीजेपी के लिए इसे बड़ा झटका माना जा रहा है।

गौरतलब है कि टीएमसी के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने ट्वीट कर कहा, ‘मीडिया ने बीजेपी को लेकर जरूरत से ज्यादा ही प्रचार प्रसार किया हुआ है। लेकिन वास्तविकता यह है कि पश्चिम बंगाल में बीजेपी को दहाई के आंकड़ा पार करने में ही संघर्ष करना पड़ेगा।’

 

प्रशांत किशोर ने चुनाव परिणाम से पहले ही अपने शब्दों पर विश्वास जताते हुए अपने ट्वीट को सेव करने की अपील करते हुए कहा कि अगर बीजेपी का प्रदर्शन इससे बेहतर रहता है तो वह इस जगह को छोड़ देंगे।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close