Breaking NewsBusinessFoodsTop NewsTravelउत्तर प्रदेशक्राइमदेशनई दिल्लीपंजाबबिहारमहाराष्ट्रराजनीतिराजस्थानवायरलवीडियोव्यापारसोशल मीडियाहरियाणा

नीतीश सरकार में कृषि मंत्री ने आंदोलन कर रहे किसानों को कहा ‘दलाल’, वीडियो हुई वायरल

केंद्र सरकार द्वारा पारित तीन कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले 25 दिनों से हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश , राजस्थान और देश के दूसरे हिस्सों के किसान दिल्ली बॉर्डर पर डटे हुए हैं। आंदोलन कर रहे इन किसानों की मांग है कि मोदी सरकार उनकी बात सुने और कृषि कानूनों को वापस ले। विपक्षी दल इन आंदोलन कर रहे किसानों को अपना समर्थन जता चुके हैं और देश-विदेश के कलाकार, खिलाड़ी, पूर्व सैनिक एवं अन्य सामाजिक-राजनीतिक संगठन डट कर इन किसानों के समर्थन में खड़े होने की बात कर रहे हैं। किंतु सत्ताधारी पार्टी के नेता इन किसानों को लेकर अनाप-शनाप बयान दे रहे हैं। अब बिहार के कृषि मंत्री अमरेंद्र प्रताप सिंह ने विवादित बयान देते हुए रविवार को वैशाली के सोनपुर में पत्रकारों से बातचीत करते हुए किसानों के आंदोलन को ‘दलालों का आंदोलन’ बता दिया।

 

बिहार की एनडीए सरकार में कृषि मंत्री अमरेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि, ‘दिल्ली और हरियाणा के बॉर्डर पर जो आंदोलन चल रहा है, वह किसान आंदोलन नहीं बल्कि दलालों का आंदोलन है।’ मंत्री अमरेंद्र ने आगे कहा कि, “क्या किसान केवल दिल्ली और हरियाणा के बॉर्डर पर ही हैं? इस देश में 5.5 लाख गांव है। किस गांव का किसान आंदोलन कर रहा है? बिहार के किसान आंदोलन कर रहे हैं क्या? 5.5 लाख गांव में किसानों को कोई मतलब नहीं है और वे सभी कहते हैं कि कृषि कानून उनके हक में है। दिल्ली में मुट्ठी भर दलाल लोग किसान बनकर आंदोलन कर रहे हैं और मीडिया उसका नोटिस ले रही है। अगर वाकई में किसानों का आंदोलन होता तो पूरे भारत में आग लगी होती।”

उल्लेखनीय है कि मोदी सरकार द्वारा पारित कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली बॉर्डर पर किसानों का विरोध प्रदर्शन आज 25वें दिन भी जारी है। इस बीच एनडीए के सहयोगी रहे राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक हनुमान बेनीवाल ने भी ऐलान किया है कि किसान आंदोलन के समर्थन में 26 दिसंबर को उनकी पार्टी दो लाख किसानों को लेकर राजस्थान से दिल्ली मार्च करेगी।

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close