Breaking NewsGamesLife StyleTop NewsWorldदेशपंजाबवायरलसमय विशेषसोशल मीडियाहरियाणा

कोरोना को हरा चंडीगढ़ पुलिस के इंस्पेक्टर ने जीता अमेच्याेर ओलंपिया-2020 में गोल्ड मेडल

वैश्विक महामारी कोरोनावायरस के चलते देश के कोरोना योद्धा डट कर कोविड-19 के खिलाफ मुहिम छेड़े हुए हैं और देशवासियों की रक्षा कर रहे हैं। एक कोरोना योद्धा कोरोना संक्रमित होने के बाद सबसे पहले इस वैश्विक महामारी कोरोनावायरस को हराया और फिर अपनी कठोर मेहनत से एक इवेंट में गोल्ड मेडल जीता। हम बात कर रहे हैं चंडीगढ़ पुलिस के इंस्पेक्टर हरिंदर सिंह सेखों की जिन्होंने अमेच्याेर ओलंपिया-2020 में गोल्ड मेडल जीता है। उन्होंने ओपन मेंस फिजीक में 53 देशों के टॉप एथलीट्स को पछाड़कर शहर को पहला गोल्ड मेडल दिलाया। अमेरिका के फ्लोरिडा में यह कंपीटिशन हुआ। बॉडी बिल्डिंग और फिजीक का ये एक बड़ा कंपीटिशन होता है, जिसमें दुनिया भर से एथलीट्स आते हैं।

मूल रूप से पंजाब के जिला पटियाला निवासी हरिंदर सिंह सेखों 30 सितंबर 1997 में चंडीगढ़ पुलिस में बतौर असिस्टेंट सब-इंस्पेक्टर (एएसआई) के पद पर भर्ती हुए थे। उन्हें स्कूल के समय से ही एथलीट का शौक था और महज 16 साल की उम्र में 1994 में पटियाला स्थित अपने स्कूल की ओर से ओपन नेशनल मेडल जीता। अभ्यास के दौरान उनकी डिस्क डैमेज हो गई और डॉक्टरों के सलाह पर जिम करना शुरू कर किया। इसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और एक के बाद कई पदक जीते।

1997 में चंडीगढ़ पुलिस जॉइन करने वाले इंस्पेक्टर सेखों ने पिछले साल इस इवेंट में ब्रॉन्ज मेडल जीता था। इस बार वे टॉप पोजिशन के साथ मेडल का रंग बदलने में कामयाब रहे। 2016 में वे पहली बार इस चैंपियनशिप में खेले थे, तब उन्हें चौथे स्थान से ही संतोष करना पड़ा था।

43 वर्षीय इंस्पेक्टर हरिंदर सिंह सेखों की उपलब्धियों की बात करें तो हरिंदर सिंह 2003 में पहली बार मिस्टर चंडीगढ़ बनने के अलावा हर साल लगातार सात बार मिस्टर चंडीगढ़ बने थे। 2014 में मुंबई में आयोजित वर्ल्ड बॉडी बिल्डिंग में छठवें स्थान पर थे। 2015 में मुंबई में ही आयोजित बॉडी बिल्डिंग में दूसरे नंबर पर थे। 2016 में हांगकांग में आयोजित एशिया ओलंपिक में कांस्य पदक जीतकर चौथा स्थान हासिल किया। 2017 में अमेरिका स्थित लॉस एंजेल्स वर्ल्ड पुलिस गेम में दो स्वर्ण और एक कांस्य और 2019 में लास वेगास में रजत पदक जीत चुके हैं।

इंस्पेक्टर हरिंदर सिंह की रोज की ट्रेनिंग इस प्रकार है:
• सुबह 6:30 बजे उठते हैं, कार्डियो करते हैं
• 8 बजे नाश्ता करते हैं और फिर जिम जाते हैं
• डेढ़ घंटा जिम में लगाने के बाद वे 10 बजे ऑफिस पहुंचते हैं
• ड्यूटी के बाद शाम को फिर मॉर्निंग ट्रेनिंग शैड्यूल को फाॅलो करते हैं

इंस्पेक्टर हरिंदर सिंह का डाइट प्लान बहुत ही खास है:
• 300 ग्राम चिकन बोनलेस
• 24 अंडे रोजाना
• 250 ग्राम फिश
• 250 ग्राम मटन
• 600 ग्राम चावल
• 5 लीटर पानी दिनभर में पीते हैं
• 450 ग्राम रोजाना ग्रीन वैजिटेबल भी

87 किलोग्राम के इंस्पेक्टर हरिंदर सेखों चंडीगढ़ क्राइम ब्रांच के हेड हैं और पब्लिक ड्यूटी के कारण उन्हें सितंबर-2020 में कोविड-19 का सामना करना पड़ा था। उन्होंने 4 दिन में ही रिकवरी हासिल की और फिर ट्रेनिंग शुरू कर दी। इंस्पेक्टर हरिंदर सेखों हर तरह के नशे से दूर रहते हैं। उन्होंने पूरे साल न ट्रेनिंग मिस की और न ही ड्यूटी। वे अगर ड्यूटी की वजह से शाम को ट्रेनिंग नहीं कर पाते, तो वे रात को आकर अपना शैड्यूल पूरा करते। सेखों ने कभी डाइट के साथ भी कॉम्प्रोमाइज नहीं किया।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close