Breaking NewsTop Newsक्राइमदेशनई दिल्लीबिहारमध्य प्रदेशराजनीतिवायरलसोशल मीडिया

साध्वी प्रज्ञा के ‘शुद्र’ वाले बयान पर NDA नेता जीतन राम मांझी ने कहा- जेपी नड्डा अपनी बड़बोली सांसद को समझाएं, विवाद शुरू

अक्सर अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाली बीजेपी सांसद साध्वी प्रज्ञा एक बार फिर अपने एक बयान को लेकर विवादों में घिरती नजर आ रही है। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से बीजेपी सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने एक कार्यक्रम में कहा कि हमारे धर्म शास्त्रों में समाज की व्यवस्था के लिए चार वर्ग तय किए गए हैं। क्षत्रिय को क्षत्रिय कह दो, बुरा नहीं लगता है। ब्राह्मण को ब्राह्मण कह दो, बुरा नहीं लगता। वैश्य को वैश्य कह दो, बुरा नहीं लगता। शूद्र को शूद्र कह दो, बुरा लग जाता है। कारण क्या है, क्योंकि नामसझी है, क्योंकि समझ नहीं पाते हैं।

बीजेपी सांसद के इस बयान पर बिहार में एनडीए सरकार की सहयोगी पार्टी ‘हम’ (HAM) के प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने पलटवार करते हुए कहा कि “बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से आग्रह है कि अपने बड़बोली सांसद प्रज्ञा ठाकुर को समझाएँ कि वह SC/ST समाज को अपमानित मत करें। प्रज्ञा ठाकुर हमें मत बताएं कि कौन शुद्र है और कौन आतंकवादी।” साध्वी प्रज्ञा के इस बयान पर बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने कहा है कि एससी-एसटी को शुद्र कहने वाली भाजपा सांसद को देश के दलितों से माफी मांगनी चाहिए।

इस बयान को लेकर कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने सोमवार को बीजेपी सांसद के बहाने प्रधानमंत्री मोदी पर हमला करते हुए कहा, ‘मा. मोदी जी, दलितों और गरीबों को वर्ण व्यवस्था में बांध कब तक अपमानित करेंगे भाजपाई? और एससी-एसटी आरक्षण खत्म करने का एक और नया दुस्साहस! एससी-एसटी वर्गों के खिलाफ ये दुर्भावना बंद करे भाजपा। क्या आप प्रज्ञा के खिलाफ कार्रवाई करेंगे?’

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close