Breaking NewsTop Newsक्राइमदेशनई दिल्लीराजनीतिवायरलसोशल मीडिया

केरल के मुख्यमंत्री ने किया फ्री कोरोना वैक्सीन देने का ऐलान तो चुनाव आयोग पहुंची बीजेपी

कोरोनाकाल में केरल के मुख्यमंत्री पिनारई विजयन के मुफ्त में कोरोना वैक्सीन उपलब्ध कराने वाले बयान को लेकर विपक्षी दलों विरोध करना शुरू कर दिया है। विपक्षी दल यूडीएफ और भाजपा ने रविवार को राज्य चुनाव आयोग के सामने विरोध दर्ज कराया।

मुख्यमंत्री द्वारा मुफ्त कोरोना वैक्सीन देने का ऐलान करने की बात को लेकर विपक्षी दलों का कहना है कि मुख्यमंत्री का यह बयान चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन है। यह ऐलान ऐसे समय पर किया गया है जब चार उत्तरी जिलों में 14 दिसंबर को अंतिम चरण के निकाय चुनाव होने वाले हैं। बीजेपी की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष के सुरेंद्रन का कहना है कि यह बयान चुनाव से पहले वोटरों को लुभाने की कोशिश है।

प्रतीकात्मक तस्वीर

इस पूरे घटनाक्रम पर राज्य सरकार का कहना है कि मुख्यमंत्री पिनराई विजयन एक पत्रकार के सवाल का जवाब दे रहे थे। फ्री वैक्सीन पार्टी के मैनिफेस्टो में भी है। शनिवार को विजयन ने कहा था कि राज्य में सभी को कोरोना वैक्सीन निशुल्क दी जाएगी। किसी से कोई पैसा नहीं लिया जाएगा। वैक्सीन वितरण को लेकर सरकार का यही मत है। बता दें कि राज्य में तीन चरण में निकाय चुनाव हो चुके हैं। अंतिम चरण का मतदान होना है। पहले और दूसरे चरण का मतदान 8 और 10 दिसंबर को हुआ था।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता केसी जोसेफ ने भी मुख्यमंत्री की इस घोषणा को लेकर ऑनलाइन शिकायत दर्ज कराई है। कांग्रेस नीत यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (यूडीएफ) के संयोजक एमएम हसन का कहना है कि गठबंधन ने मुख्यमंत्री के बयान के संबंध में शिकायत दर्ज कराई है। यह घोषणा चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन है।

गौरतलब है कि इसी तरह का विवाद इस साल अक्‍टूबर में तब हुआ था जब बिहार विधानसभा चुनावों से पहले बीजेपी ने अपने घोषणापत्र में राज्‍य के निवासियों को फ्री में कोरोना वैक्‍सीन उपलब्ध कराने का ऐलान किया था। तब भी तमाम विरोधी दलों ने इस तरह के ऐलान की आलोचना की थी। एक आरटीआई कार्यकर्ता की शिकायत पर चुनाव आयोग ने कहा था कि इस तरह का वादा करना आचार संहिता का उल्‍लंघन नहीं है।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close