Breaking NewsFoodsTop NewsTravelउत्तर प्रदेशक्राइमछोटा पर्दादेशनई दिल्लीपंजाबमनोरंजनमहाराष्ट्रराजनीतिराजस्थानवायरलव्यापारसिनेमासोशल मीडियाहरियाणा

कॉमेडियन गुरप्रीत सिंह घुग्गी ने ‘सिंघु बॉर्डर’ का नाम बदलने की मांग के साथ मोदी सरकार पर साधा निशाना

केंद्र सरकार द्वारा पारित कृषि कानूनों के खिलाफ किसान लगातार आंदोलन कर रहे हैं। किसान आंदोलन को लेकर कोई समर्थन जता रहा है तो कोई केंद्र सरकार के प्रति विश्वास बनाए हुए है। गौरतलब है कि आंदोलन कर रहे इन किसानों में पंजाब राज्य के सर्वाधिक किसान हैं। पंजाब के मशहूर कलाकार, पूर्व खिलाड़ी, सेवानिवृत्त सैनिक इत्यादि इस किसान आंदोलन को अपना समर्थन दे रहे हैं। कल पंजाबी फिल्मों के अभिनेता और कॉमेडियन गुरप्रीत घुग्गी सिंघु बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे किसानों से मिले। उन्होंने कहा, यह लड़ाई ‘जमीरदारों’ की है। तीनों कृषि कानून किसानों द्वारा खारिज कर दिए गए तो केंद्र को भी अब से रद्द कर देना चाहिए।

 

कॉमेडियन गुरप्रीत सिंह घुग्गी ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार को इन कृषि कानूनों को रद्द कर देना चाहिए,साथ ही लगे हाथों ‘सिंघु बॉर्डर’ का नाम बदलकर ‘सिंह बॉर्डर’ कर देना चाहिए। गुरप्रीत घुग्गी ने कहा कि सिंघु बॉर्डर पर किसानों की एकता को देखते हुए अब इस बॉर्डर का नाम सिंह बॉर्डर कर देना चाहिए।

मोदी सरकार को गलतफहमी में होने का आरोप लगाते हुए पंजाबी फिल्मों के अभिनेता गुरप्रीत घुग्गी ने कहा कि आप सोचते हो कि किसान आपकी बात मानकर ऐसे ही घर चलेगा जाएगा। तो आज का नारा है किसान का, बार-बार चर्चा के लिए मत बुलाओ वो कहते हैं-“बातचीत हो मगर इस बात पर हो कि यस और नो।” किसान इस बात पर टिका है कि वो ये कानून रद्द करवा के जाएंगे।

 

बता दें कि किसान आंदोलन का आज 19वां दिन है। देश में कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आज भूख हड़ताल कर रहे हैं। दिल्ली के सिंधु बॉर्डर से लेकर यूपी-दिल्ली सीमा के गाजीपुर तक किसान सुबह 8 से 5 बजे तक उपवास पर बैठे रहेंगे। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनकी राजनीतिक पार्टी इस उपवास को अपना समर्थन दे चुकी है।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close