Breaking NewsTop Newsक्राइमदेशराजस्थानवायरलसोशल मीडिया

DSP ने भ्रष्टाचार के खिलाफ दिया भाषण, फिर एक घंटे बाद खुद ही 80,000 रुपए रिश्वत लेते गिरफ्तार

शासन-प्रशासन रिश्वतखोरी पर नियंत्रण करने के लाख दावे करता रहता है, बहुत से वरिष्ठ अधिकारी अपने जूनियर्स को रिश्वत ना लेने को लेकर चर्चा करते हुए जनता की सेवा करने की बात कहते हैं। हैरानी भरा मामला तब सामने आया जब एक डीएसपी रिश्वत ना लेने को लेकर भाषण देने के बाद खुद ही रिश्वतखोरी मामले में गिरफ्तार कर लिया गया। बता दें कि डीएसपी को घूस देने वाले जिला परिवहन अधिकारी (डीटीओ) को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। ऐसा पहली बार हुआ कि किसी एसीबी में तैनात आरपीएस स्तर के अफसर को खुद एसीबी ने ही ट्रैप किया हो।

कार्यक्रम में रिश्वतखोरी के खिलाफ भाषण देते हुए डीएसपी भेरूलाल मीणा

मामला राजस्थान का है। एसीबी के डीजी बीएल जोशी ने बताया कि कोटा के आकाशवाणी कॉलोनी में रहने वाले डीएसपी भैरूलाल मीणा, सवाई माधोपुर में एसबी चौकी प्रभारी हैं। उनके खिलाफ कई दिनों से रिश्वत लेने की शिकायत मिल रही थी। इसलिए टीम लगातार मीणा पर नजर रख रही थी। बुधवार को डीएसपी भेरूलाल मीणा एक समारोह के दौरान कह रहे थे कि अगर कोई भी अधिकारी या कर्मचारी रिश्‍वत मांगे तो 1064 पर कॉल करो और रिश्‍वतखोरी को बंद करने में हमारी मदद करो। बुधवार को ही जयपुर से एसीबी की टीम पहुंची तो करौली के दलपुरा में रहने वाले डीटीओ महेश चंद मीणा उन्हें मासिक वसूली के 80 हजार रुपये दे रहे थे। डीएसपी मीणा के घर पर छापा मारने पर टीम को जमीनों के कागजात और 1.61 लाख रुपये नगद मिले हैं। अब एसीबी की टीम उनके अन्य ठिकानों की तलाश कर रही है।

रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार डीएसपी भैरुंलाल मीणा (सफेद शर्ट में) और रिश्वत देने के आरोप में पकड़ा गया जिला परिवहन अधिकारी महेशचंद

जानकारी के मुताबिक, यह कार्रवाई एक जुनियर ने अपने ही सीनियर अफसर के खिलाफ की है। रिश्वतखोरी के आरोप में पकड़ा गया यह अधिकारी भैरुंलाल मीणा डीएसपी है और उसके पास सवाईमाधोपुर में एसीबी के चौकी प्रभारी की जिम्मेदारी भी उसके पास है।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close