Breaking NewsBusinessTop NewsWorldउत्तर प्रदेशगुजरातदेशनई दिल्लीमहाराष्ट्रराजनीतिवायरलव्यापारसोशल मीडिया

हैदराबाद के भारत बायोटेक के प्लांट पहुंचे पीएम मोदी, Covaxin की तैयारियों की समीक्षा बैठक की

वैश्विक महामारी कोविड-19 की वैक्सीन के लिए विश्व भारत की ओर एक उम्मीद से देख रहा है। कोरोना वायरस‌ की वैक्सीन से जुड़े कार्यों की समीक्षा के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शनिवार को तीन शहरों के दौरे के तहत हैदराबाद पहुंचे। प्रधानमंत्री मोदी ने हैदराबाद स्थित बायोटेक्नोलॉजी कंपनी भारत बायोटेक के संयंत्र पहुंच कर कोरोना वैक्सीन विकास के संबंध में जानकारी ली। हैदराबाद के हकीमपेट वायु सेना केंद्र पर उतरने के बाद तेलंगाना के मुख्य सचिव सोमेश कुमार, पुलिस महानिदेशक और अन्य अधिकारियों ने प्रधानमंत्री का स्वागत किया।

बता दें कि इससे पहले, पीएम मोदी ने जाइडस कैडिला के संयंत्र पहुंचकर कोरोना वैक्सीन से जुड़े घटनाक्रमों की जानकारी ली थी। पीएम मोदी ने वैक्सीन बनाने के काम में जुटी के प्रयासों की सराहना भी की। साथ ही कहा कि भारत सरकार सक्रिय रूप से उनके साथ काम कर रही है।

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके कहा, “जाइडस कैडिला द्वारा विकसित की जा रही स्वदेशी डीएनए आधारित वैक्सीन के बारे में ज्यादा जानकारी लेने के लिए अहमदाबाद में जायडस बायोटेक पार्क का दौरा किया। इस काम में लगी टीम के प्रयासों की मैं सराहना करता हूं। इस यात्रा में उनका साथ देने के लिए भारत सरकार सक्रिय रूप से काम कर रही है।”

भारत बायोटेक कोविड-19 की रोकथाम के लिए संभावित टीके कोवैक्सिन का विकास भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) और राष्ट्रीय विषाणुविज्ञान संस्थान के साथ मिलकर कर रहा है जिसका तीसरे चरण का परीक्षण चल रहा है। भारत बायोटेक की बीएसएल-3 (जैव-सुरक्षा स्तर 3) इकाई में टीके का विकास किया जा रहा है और यहीं इसका उत्पादन किया जाएगा।

 

भारत बायोटेक के संयंत्र में करीब एक घंटा बिताने के बाद मोदी पुणे रवाना होंगे जहां वह सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) जाएंगे। एसआईआई ने कोविड-19 टीके के लिए वैश्विक दवा निर्माता कंपनी एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के साथ साझेदारी की है। अधिकारी ने बताया कि प्रधानमंत्री एसआईआई परिसर शाम करीब साढ़े चार बजे पहुंचेंगे और यहां करीब एक घंटे तक रहेंगे।

देश में फिलहाल तीन वैक्सीन पर काम चल रहा है। इनमें ऑक्सफोर्ड वैक्सीन, भारत बायोटेक की वैक्सीन और जायडस कैडिला की वैक्सीन शामिल है। यह तीनों वैक्सीन ट्रायल के अलग-अलग चरण में हैं। देश में सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया(SII) की ऑक्सफोर्ड वैक्सीन, कोविशील्ड(Covishield) रेस में सबसे आगे है। सीरम इंस्टीट्यूट की योजना ये है कि ब्रिटेन में ऑक्सफोर्ड वैक्‍सीन को आपातकालीन मंजूरी मिलते ही भारत में वह इसके इमरजेंसी अप्रूवल के लिए अप्लाई कर देगी। दूसरी वैक्सीन जायडस कैडिला की जायकोव-डी(ZyCov-D) है। यह वैक्सीन अपने दूसरे चरण के ट्रायल में है। भारत बॉयोटेक की वैक्सीन कोवैक्सीन का ट्रायल फिलहाल तीसरे और आखिरी चरण में है।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close