Breaking NewsBusinessTechTop NewsWorldउत्तर प्रदेशदेशवायरलव्यापारसोशल मीडिया

उत्तर प्रदेश में बनेंगे राफेल लड़ाकू विमान के पार्ट्स, फ्रांस की कंपनी ने नोएडा में खोला ऑफिस

राफेल लड़ाकू विमान के भारत आगमन पर पूरा देश गौरवान्वित महसूस कर रहा है और भारतीय सीमा पर आंख दिखा रहा चीन अपनी रणनीति बदलने पर मजबूर हो रहा है। अब देशवासियों के लिए एक नई सूचना है जिससे एक बार फिर देशवासियों को गौरवान्वित महसूस होने का मौका मिलेगा। फाइटर प्लेन राफेल के पार्ट्स अब उत्तर प्रदेश में बनाए जाएंगे। राफेल के पार्ट्स बनाने वाली फ्रांस की कंपनी थैलेस ने उत्तर प्रदेश में निवेश करने पर सहमति जताई है। कंपनी ने अपना नया कॉरपोरेट ऑफिस नोएडा में खोला है। सोमवार को एमएसएमई मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने थैलेस के स्टेट ऑफ आर्ट न्यू कॉरपोरेट ऑफिस का वर्चुअली उद्‌घाटन किया।

पहले कंपनी का यह ऑफिस दिल्ली में था। 1.50 लाख वर्ग फुट में बनी इस 6 मंजिला इमारत में 1,100 कर्मचारी काम करेंगे। थैलेस कंपनी डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर के तहत कानपुर में एमकेयू कंपनी के साथ मिलकर आर्म्ड फोर्स के लिए नाइट विजन डिवाइस भी बनाएगी। इसके लिए कंपनी ने प्रस्ताव दिया है। एमएसएमई मंत्री ने कहा कि प्रस्ताव पर तेजी से काम चल रहा है।

फ्रांसीसी राजदूत इमैनुएल लेनिन दो दिवसीय दौरे पर लखनऊ पहुंचे थे और उन्होंने उत्तर प्रदेश में निवेश की बात कही। उन्होंने ट्वीट कर कहा था, ‘उत्तर प्रदेश के युवाओं और छात्रों में बहुमुखी प्रतिभा है। फ्रांस में इनकी एक बड़ी तादाद है। हम चाहते हैं कि यहां से और ज्यादा युवा प्रतिभा और छात्र फ्रांस आएं। यही नहीं हम ये भी चाहते हैं कि फ्रांस की कंपनियां उत्तर प्रदेश में अपना कारोबार लगाएं। इसलिए मैं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात भी करूंगा।‘

 

इसके अलावा, कंपनी डिजिटल आइडेंटिटी और सिक्यॉरिटी बिजनेस के तहत प्रदेश में इंजिनियरिंग सेंटर के रूप में भी काम करेगी। स्थानीय कौशल को बढ़ावा देने के साथ उच्च गुणवत्ता युक्त तकनीक विकसित करने में भी यूपी को सहयोग देगी। कंपनी देश में एचएएल, भेल, एल ऐंड टी आदि के साथ टेक्नॉलजी के क्षेत्र में काम कर रही है।

 

बता दें कि थैलेस कंपनी राफेल एयरक्राफ्ट के लिए रेडार, इलेक्ट्रॉनिक्स वायस सिस्टम, कॉकपिट डिस्प्ले सिस्टम, पावर जनरेशन सिस्टम समेत तमाम उपकरणों की मैन्युफैक्चरिंग करती है। इसके अलावा कंपनी रक्षा, एयरोनॉटिक्स, स्पेस, ट्रांसपोर्टेशन, डिजिटल आइडेंटिटी और सिक्यॉरिटी मार्केट में भी काम कर रही है। एमएसएमई मंत्री ने कंपनी के कंट्री हेड इमैनुअल डीआर से रक्षा उपकरणों के पार्ट्स भी यूपी में बनाने के लिए निवेश का न्योता किया है।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close