Breaking NewsBusinessTechTop NewsWorldक्राइमदेशनई दिल्लीराजनीतिवायरलविदेशव्यापारसोशल मीडिया

मोदी सरकार ने 43 और मोबाइल ऐप्स पर लगाया बैन, अब तक कुल 267 चाइनीज ऐप्स पर लग चुका है बैन

कुछ महीने पहले LAC पर चीन के साथ तनातनी के बीच भारत सरकार ने कई चाइनीज ऐप पर बैन लगा दिया था। एक बार फिर सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए भारत सरकार ने 43 और मोबाइल ऐप्स पर बैन लगाने का फैसला किया है। सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 69 ए का उपयोग करते हुए मोदी सरकार ने 43 मोबाइल ऐप्स को बैन किया है।

43 मोबाइल ऐप्स जिन्हें बैन किया गया है……
1.) अली सप्लायर्स
2.) अली बाबा वर्कबेंच
3.) अली एक्सप्रेस- स्मार्टर शॉपिंग, बेटर लिविंग
4.) अलीपे कैशियर
5.) लालामोव इंडिया- डिलीवरी ऐप
6.) ड्राइव विद लालामोव इंडिया
7.) स्नैक वीडियो
8.) कैमकार्ड- बिजनेस कार्ड रीडर
9.) कैम कार्ड- BCR (वेस्टर्न)
10.) सोल- फॉलो द सोल टु फाइंड यू
11.) चाइनीज सोशल- फ्री ऑनलाइन डेटिंग वीडियो ऐप एंड चैट
12.) डेट इन एशिया- डेटिंग एंड चैट फॉर एशियन सिंगल्स
13.) वी डेट- डेटिंग ऐप
14.) फ्री डेटिंग ऐप- सिंगल, स्टार्ट योर डेट
15.) एडोर ऐप
16.) ट्रूली चाइनीज- डेटिंग ऐप
17.) ट्रूली एशियन- डेटिंग ऐप
18.) चाइना लव- डेटिंग ऐप फॉर चाइनीज सिंगल्स
19.) डेट माई एज- चैट, मीट, डेट
20.) एशियन डेट
21.) फ्लर्ट विश
22.) गाइज ओनली
23.) ट्यूबिट
24.) वी वर्क चाइना
25.) फर्स्ट लव लाइव – सुपर हॉट लाइव ब्यूटीज लाइव ऑनलाइन
26.) रेला – लेस्बियन सोशल नेटवर्क
27.) कैशियर वॉलेट
28.) मैंगो टीवी
29.) एमजी टीवी – ह्यूमन टीवी ऑफिशियल टीवी ऐप
30.) वी टीवी – टीवी वर्जन
31.) वी टीवी – सी ड्रामा के ड्रामा एंड मोर
32.) वी टीवी लाइट
33.) लकी लाइव- लाइव वीडियो स्ट्रीमिंग ऐप
34.) टाओवाओ लाइव
35.) डिंग टॉक
36.) आइडेंटिटी वी
37.) आइसोलैंड 2 : ऐशेज ऑफ टाइम
38.) बॉक्सस्टार (अर्ली एक्सेस)
39.) हीरोज इवोल्वड
40.) हैप्पी फिश
41.) जेलिपॉप मैच : डेकोरेट यूअर ड्रीम आइसलैंड
42.) मंचकिन मैच : मैजिक होम बिल्डिंग
43.) कॉनक्विस्ता

गौरतलब है कि केंद्र सरकार पिछले कुछ माह में सैकंडों चाइनीज मोबाइल ऐप्स पर प्रतिबंध लगा चुकी है। बैन की गई इन ऐप्स में 14 डेटिंग ऐप्स हैं और ज्यादातर चाइनीज हैं। मोदी सरकार ने यह फैसला इंडियन साइबर क्राइम को-ऑर्डिनेशन सेंटर की गृह मंत्रालय को भेजी गई रिपोर्ट के आधार पर लिया गया है।

• पहली बार सरकार ने 29 जून को यही कारण बताते हुए 59 चीनी ऐप्स बैन कर दिए थे। फैसला 15 जून को गलवान झड़प के बाद लिया गया था।
• इसके बाद 27 जुलाई को भी 47 ऐप बैन किए गए थे। सरकार ने यह कदम तब उठाया था, जब लद्दाख में तनाव बढ़ रहा था और चीनी सैनिकों ने दो बार घुसपैठ की कोशिश की थी।
• 2 सितंबर को सरकार ने पबजी समेत 118 ऐप्स को बैन किया था। पबजी को 17.5 करोड़ से ज्यादा लोगों ने डाउनलोड किया है।
• अब 24 नवंबर को एक बार फिर सरकार ने 43 मोबाइल ऐप्स बैन की हैं। देश की सुरक्षा और अखंडता के लिए इन्हें खतरा बताया गया है।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close