Breaking NewsGamesIPL 2020Top Newsदेशनई दिल्लीवायरलसोशल मीडिया

नहीं रहे महेंद्र सिंह धोनी के मेंटर देवल सहाय

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के मेंटर रहे देवल सहाय का मंगलवार सुबह मेडिका हस्पताल में निधन हो गया। 73 साल के देवल सहाय पिछले तीन महीने से बीमार चल रहे थे जिसके बाद उनका मेडिका में इलाज चल रहा था।

देवल सहाय झारखंड राज्य क्रिकेट संघ के उपाध्यक्ष भी रहे थे। 1997-98 में सेंट्रल कोलफील्ड्स लिमिटेड (CCL) के निदेशक के तौर पर देवल सहाय ने महेंद्र सिंह धोनी को स्टाइपेंड पर रखा था। उल्लेखनीय है कि एमएस धोनी की बायोपिक में भी देवल सहाय का जिक्र किया गया है। महेंद्र सिंह धोनी को क्रिकेट जगत में इतनी ऊंचाई तक पहुंचाने में मेंटर देवल सहाय ने अहम भूमिका निभाई। शीश महल टूर्नामेंट के मैचों में महेंद्र सिंह धोनी ने जब भी छक्का लगाया, उस दौरान देवल सहाय ने 50 रुपये का उपहार माही को दिया था। देवल सहाय धोनी के समर्पण और क्रिकेट कौशल से इतने प्रभावित हुए कि उन्‍हें बिहार टीम में चयन के लिए प्रेरित किया। उन्‍हें रांची में क्रिकेट का भीष्‍म पितामह कहा जाता है।

खेल प्रशासक के रूप में रांची के दर्जनों क्रिकेटरों के करियर को मुकाम देने में देवल सहाय की अहम भूमिका रही है। उनके निर्देशन में दर्जनों क्रिकेटरों ने देश व राज्य का प्रतिनिधित्व किया। इनमें महेंद्र सिंह धोनी, प्रदीप खन्ना, आदिल हुसैन, अनवर मुस्तफा, धनंजय सिंह, सुब्रत दा, संजीव सिन्हा, राजीव कुमार राजा, सरफराज अहमद समेत दर्जनों क्रिकेटर शामिल हैं।

देवल सहाय मेकॉन, CMPDI और CCL में वरीय पदों पर कार्यरत रहे। अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने तीनों संस्थाओं में खिलाड़ियों की सीधी नियुक्ति का द्वार खोला। इसका ज्यादा फायदा क्रिकेटरों को मिला लेकिन अन्य खेलों के खिलाडिय़ों की भी नियुक्ति हुई। सबसे खास ये था कि वे खेल के मैदान में स्वयं मौजूद रहते थे।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close