Breaking NewsTop Newsउत्तराखंडदेशवायरलसोशल मीडिया

मसूरी के IAS ट्रेनिंग एकेडमी में 33 ट्रेनी IAS कोविड-19 पॉजिटिव, एकेडमी 48 घंटे के लिए सील

देश में वैश्विक महामारी कोरोनावायरस ने कोहराम मचा रखा है। जानकारी के मुताबिक, मसूरी के लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी के 33 ट्रेनी IAS कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इसकी पुष्टि अकादमी के डायरेक्टर डॉ. संजीव चोपड़ा ने की है। देश की सर्वोच्च ट्रेनिंग एकेडमी में गिने जाने वाली लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी में इतनी बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के बाद हड़कंप मच गया है।

लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी के डायरेक्टर डॉ. संजीव चोपड़ा ने बताया, ‘संस्थान में 33 पॉजिटिव केस सामने आए हैं। इसके बाद हॉस्टल, मेस, प्रशासनिक कार्यालय में सैनेटाइजेशन का काम किया जा रहा है। साथ ही संस्थान को अगले दो दिनों के लिए सील कर दिया गया है। वहीं, कोरोना संक्रमित मिले ट्रेनी अधिकारियों को क्वारेंटीन कर दिया गया है।

अकादमी के मुताबिक 95वें फाउंडेशन कोर्स के लिए भारतीय प्रशासनिक सेवा, भारतीय पुलिस सेवा, भारतीय वन सेवा, भारतीय राजस्व सेवा आदि केंद्रीय सेवाओं के 428 प्रशिक्षु अधिकारी इस समय कैंपस में है। संक्रमित पाए गये अफसरों को क्वारंटाइन कर दिया गया है। 150 लोगों की जांच कराई गई है, बाकी की जांच कराई जाएगी।

डीएम डा. आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि अकादमी में स्थानीय प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग की टीम भेजी गई है। जरूरी सामान एवं दवाएं भिजवाई जा रही हैं। किसी संक्रमित को बहुत ज्यादा दिक्कत नहीं होने की जानकारी मिली है। फिर भी ऐहतियात बरतते हुए एंबुलेंस भिजवाई गई है। यदि किसी को अस्पताल में भर्ती कराने की जरूरत पड़ी तो उन्हें अस्पताल में भर्ती कर उपचार दिलाया जाएगा।

उत्तराखंड में शुक्रवार को कोविड-19 से संक्रमित कुल 512 नए मामले सामने आए और इस दौरान पांच मरीजों की मौत हो गई। प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी बुलेटिन के अनुसार उत्तराखंड में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 70,205 हो गई है। नए मामलों में से सर्वाधिक 204 देहरादून जिले में सामने आए हैं। राज्य में महामारी से अब तक 1,138 मरीज जान गंवा चुके हैं।

दिल्ली समेत बाहरी राज्यों से उत्तराखंड आने वाले यात्रियों की राज्य के बॉर्डर चेक पोस्टों पर रेंडम जांच शुरू कर दी गई है। हालांकि अभी तक केवल निजी गाड़ियों से राज्य में प्रवेश करने वालों की ही जांच की जा रही है। बसों से आ रहे यात्रियों की सिर्फ संख्या दर्ज की जा रही है। जबकि एयरपोर्ट और ट्रेन से आने वालों यात्रियों की स्क्रीनिंग की जा रही है और पंजीकरण चेक किया जा रहा है।

Tags
Show More
Close