Breaking NewsTop NewsWorldक्राइमजम्मू-कश्मीरदेशनई दिल्लीराजनीतिवायरलसोशल मीडिया

जम्मू कश्मीर में बन रहे गुपकार गठबंधन और कांग्रेस पर भड़के गृहमंत्री अमित शाह

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर में गुपकार गठबंधन और कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि गुपकार गैंग वाले ग्लोबल हो रहे हैं और ये गैंग जम्मू-कश्मीर में गैर मुल्की ताकतों का दखल चाहता है। इसके अलावा अमित शाह ने सोनिया गांधी पर निशाना साधते हुए पूछा कि क्या सोनिया गांधी भी इनकी हिमायत करती हैं? ये साफ है कि ‘देशविरोधी राजनीति’ को कांग्रेस का साथ मिल रहा है। गृहमंत्री ने आगे कहा कि गुपकार गैंग कश्मीर को आतंक युग में ले जाना चाहता है। उन्होंने कहा कि अगर गुपकार गैंग देश के मूड के साथ नहीं आता है, तो अवाम उसे डुबो देगी। गुपकार गैंग विदेशी ताकतों का कश्मीर में दखल चाहता है।

 

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्रियों पर टिप्पणी करते हुए अमित शाह ने कहा कि महबूबा मुफ्ती और फारूक अब्दुल्ला के बयान देशविरोधी हैं। इनकी पाकिस्तान से सुलह है और इन्हें चीन से मदद मिल रही है। गृह मंत्री ने कहा कि गुपकार गुट का टार्गेट आर्टिकल 370 को फिर से लागू करना है। गृहमंत्री ने कहा कि जम्मू और कश्मीर हमेशा से भारत का अभिन्न अंग रहा है और रहेगा। भारतीय लोग अब हमारे राष्ट्रीय हित के खिलाफ ‘अपवित्र ग्लोबल गठबंधन’ को बर्दाश्त नहीं करेंगे। इसलिए या तो गुपकर गैंग को राष्ट्रीय मूड के साथ चलना होगा या फिर लोग इसे डुबो देंगे।

बता दें कि पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने एक बार फिर से भड़काऊ बयान देकर अपनी राजनीतिक चमकाने की कोशिश की है। महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार पर कश्मीरियों को बाहर निकालने और दूसरे राज्य के लोगों को सूबे में बसाने का इल्ज़ाम लगाया था। महबूबा ने सरकार को खतरनाक अंजाम भुगतने की चेतावनी भी दी है। उन्होंने कहा था कि सरकार गुज्जर बकरवाल तबके को खदेड़ रह है और हिंदुस्तान से दूसरे लोगों को यहां बसाना चाहती है। उन्होंने कहा कि इन अमन पसंद मुस्लिमों को जबरदस्ती धकेला जा रहा है। इनके साथ छेड़छाड़ मत कीजिए, इसके बहुत खतरनाक अंजाम भुगतने पडज़ सकते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार जम्मू-कश्मीर की ज़मीन की बिक्री करना चाहती है।

 

नेशनल कॉंन्फ्रेंस के नेता फारुक अब्दुल्ला ने आज कहा कि हम गैंग नहीं हैं बल्कि हम पार्टियों का गठबंधन कर रहे हैं। जो हमें गैंग कह रहे हैं दरअसल वे बड़े डकैत हैं, यही कारण है कि उन्हें हर कोई गैंग दिखता है। हम साथ चुनाव लड़ेंगे, लेकिन हमारा चुनाव चिह्न एक नहीं हो सकता, इसलिए हम अपने-अपने चुनाव चिह्न के साथ संयुक्त उम्मीदवार उतारेंगे। फारुक अब्दुल्ला ने कहा कि हम देश के दुश्मन नहीं हैं, हम भाजपा के दुश्मन हैं। वे हिंदू, मुस्लिम, सिख और ईसाई को एक दूसरे से अलग करना चाहते हैं। हमारा महात्मा गांधी में विश्वास है, उनके विचारों में विश्वास है। वे सभी को एकसमान मानते थे। फारुक अब्दुल्ला ने गुपकार घोषणा के तहत साथ आयी पार्टियों के गठबंधन को गैंग कहे जाने पर यह तीखी प्रतिक्रिया दी है।

गौरतलब है कि फारुक अब्दुल्ला के साथ जम्मू-कश्मीर की कई पार्टियों ने मिलकर आर्टिकल 370 की पुनर्बहाली के लिए एक मुहिम शुरु किया है। इन पार्टियों में पीडीपी भी शामिल है। पीडीपी की नेता महबूबा मुफ्ती की रिहाई के बाद आर्टिकल 370 की पुनर्बहाली के प्रयास इन पार्टियों ने तेज कर दिए हैं।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close