Breaking NewsTop Newsदेशनई दिल्लीबिहारमध्य प्रदेशराजनीतिवायरलसोशल मीडिया

कांग्रेस नेता ने लगाया बीजेपी पर आरोप, कहा-भाजपा ने नीतीश का क़द छोटा कर रामविलास पासवान की विरासत की समाप्त

बिहार विधानसभा चुनाव का परिणाम एक्जिट पोल के विपरित आने पर विपक्षी दल हैरान और परेशान नजर आ रहे हैं। इस हैरानी की झलक इन विपक्षी दलों के नेताओं के बयानों और सोशल मीडिया पर टिप्पणी में देखा जा सकता है। मध्य प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने बिहार विधानसभा चुनाव 2020 व मध्यप्रदेश विधानसभा उपचुनाव के परिणाम घोषित होने के बाद अपनी प्रतिक्रिया दी है। बिहार विधानसभा के परिणाम को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्वि​जय सिंह ने एक ट्वीट करते हुए एनडीए की जीत को लेकर बीजेपी पर निशाना साधा है।

 

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर लिखा- भाजपा ने अपनी कूटनीति से नितीश का क़द छोटा कर दिया व रामविलास पासवान जी की विरासत को समाप्त कर दिया। सन 76 से ले कर आज तक जनसंघ/भाजपा ने हर गठबंधन सरकारों में अपना क़द बढ़ाया है और सभी समाजवादी धर्मनिरपेक्ष विचारधारा वाले राजनैतिक संघटनों को कमजोर किया है।

कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने अपनी पार्टी के सांसद और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को लेकर कहा कि आज देश में एक मात्र नेता राहुल गांधी हैं जो विचारधारा की लड़ाई लड़ रहे हैं। एनडीए के सहयोगी दलों को समझना चाहिए राजनीति विचारधारा की होती है, जो भी व्यक्ति अपनी महत्वाकांक्षा के कारण विचारधारा को छोड़कर अपने स्वार्थ के लिए समझौता करता है वह अधिक समय तक राजनीति में ज़िंदा नहीं रहता। इसके अलावा दिग्वजय सिंह ने लिखा- मुझे इस बात का दुख है भारत की आज़ादी के बाद के राजनैतिक इतिहास में राजनेताओं की अपनी महत्वकांक्षाओं के कारण विचारधारा गौण हो जाती रही है। कांग्रेस ही एक मात्र दल है जिसने संघ की विचारधारा के साथ ना कभी समझौता किया और ना ही जनसंघ/भाजपा के साथ मिल कर कभी सरकार बनाई।

उल्लेखनीय है कि बिहार विधानसभा चुनाव की सभी सीटों के नतीजे घोषित हो चुके हैं। एनडीए ने इस चुनाव में 125 सीटें हासिल की हैं, जबकि महागठबंधन को 110 सीटों पर जीत मिली। राज्य में सबसे बड़ा फायदा भाजपा को हुआ, जिसे 74 सीटें मिलीं। हालांकि, सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर तेजस्वी यादव की राजद ही उभरी, जिसे 75 सीटें मिलीं। दूसरी तरफ इस बार जदयू को 28 सीटों का नुकसान हुआ और वह तीसरे नंबर की पार्टी बन गई।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close