Breaking NewsTop Newsउत्तर प्रदेशक्राइमछोटा पर्दादेशनई दिल्लीमनोरंजनमहाराष्ट्रराजनीतिवायरलसिनेमासोशल मीडिया

उद्धव ठाकरे ने दी योगी आदित्यनाथ को चुनौती, हिम्मत है तो ‘फ़िल्म सिटी’ को यूपी ले जाकर दिखाएं

दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद महाराष्ट्र सरकार और बिहार सरकार के बीच बयानबाजी के बाद अब उत्तर प्रदेश सरकार और महाराष्ट्र सरकार के बीच तनातनी शुरू हो गई है। फिलहाल ‘फिल्म सिटी’ को लेकर दोनों राज्यों की सरकारों की भौंहें तनी हुई हैं। बता दें कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को चुनौती देते हुए कहा है कि अगर हिम्मत है तो वह फिल्म सिटी को उत्तर प्रदेश में ले जाकर दिखाएं। विदित हो कि कुछ महीनों पहले योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि वे देश की सबसे बड़ी फिल्म सिटी उत्तर प्रदेश में बनाएंगे। तब से फिल्म सिटी के मुद्दे पर शिवसेना और बीजेपी पार्टी भी एक-दूसरे के खिलाफ बयान दे रही हैं।

उल्लेखनीय है कि सिनेमा जगत से जुड़े हुए एक वेबीनार में गुरुवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने एक बार फिर से योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा है। दूसरी तरफ उद्धव ठाकरे ने मुंबई फिल्म सिटी में आधुनिक सुविधाएं मुहैया करवाने का भी भरोसा फिल्म जगत को दिया है। उन्होंने कहा कि बॉलीवुड इंडस्ट्री में कई सारी समस्याएं और परेशानियां हैं जिनको दूर करने का काम हमारी सरकार करेगी। बॉलीवुड इंडस्ट्री को जो भी सुविधाएं चाहिए उन्हें मुहैया करवाया जाएगा। उद्धव ठाकरे ने कहा कि जिस भूमि पर दादा साहब फाल्के ने फिल्म निर्माण की शुरुआत की। उस जगह पर मैं किसी भी प्रकार की कमी नहीं होने दूंगा। मुख्यमंत्री ठाकरे ने कहा कि “यह एक ऐसा उद्योग है जिसे मैं बहुत निकटता से जुड़ा हुआ हूं। आप सभी को अपनी आवश्यकताओं को सूचीबद्ध करना चाहिए और उन्हें प्राथमिकता देनी चाहिए और सरकार उन सभी मदद का विस्तार करेगी जो आवश्यक है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र मराठी सिनेमा के साथ-साथ किफायती सिनेमाघर और रिज़र्व स्क्रीन बनाने पर भी काम करेगा।

इसके पहले शिवसेना के मुखपत्र सामना ने भी यूपी में फिल्म सिटी स्थापना को लेकर योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा था। सामना ने तब लिखा था कि जब लॉकडाउन और कोरोना की वजह से फिल्म सिटी बंद है तब योगी जी नई फिल्म सिटी बनाने की बात कर रहे हैं। अंतर्राष्ट्रीय सलाहकारों के मार्गदर्शन के साथ यह काम शुरू किया जाएगा और अगले ढाई वर्ष के भीतर यह काम पूरा कर लिया जाएगा। यह सब होने के बाद भी मुंबई की फिल्म सिटी का महत्व कम नहीं होगा।

शिवसेना ने बीजेपी पर आरोप लगाया कि मुंबई से बॉलीवुड को दूसरी जगह शिफ्ट करने का षड्यंत्र किया जा रहा है। लेकिन हम इसे पूरा नहीं होने देंगे। मुंबई महाराष्ट्र की आर्थिक राजधानी ही नहीं बल्कि सांस्कृतिक राजधानी भी है। आज बॉलीवुड में हॉलीवुड को टक्कर देने वाली फिल्में बन रही हैं। दुनियाभर में बॉलीवुड कलाकारों के चाहने वाले लोग मौजूद हैं। मनोरंजन क्षेत्र एक बड़ा उद्योग का क्षेत्र बन चुका है। जहां असंख्य लोगों को रोजगार का मौका मिलता है। सिनेमा की वजह से अपने कलाकार लोकप्रिय होते हैं। लेकिन बीते कुछ दिनों से कुछ लोगों की वजह से बॉलीवुड को बदनाम करने की भी साजिश की जा रही है जो बेहद ही दुखद है।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close