Breaking NewsTop Newsदेशपश्चिम बंगाल चुनावराजनीतिवायरलसोशल मीडिया

ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में काली पूजा और दीपावली पर पटाखे फोड़ने पर लगाया बैन

पश्चिम बंगाल सरकार ने काली पूजा व दीपावली पर पटाखे फोड़ने पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है। इसके साथ ही ममता बनर्जी सरकार ने प्रदेश के लोगों से आग्रह किया गया है कि वैश्विक महामारी कोरोनावायरस के मद्देनजर सुरक्षा निर्देशों का पालन करें।

मंगलवार की शाम को राज्य मुख्यालय नबान्न में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य के मुख्य सचिव अलापन बंद्योपाध्याय सहित आला अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक के बाद संवाददाताओं को संबोधित करते हुए बंद्योपाध्याय ने कहा, वर्तमान में पूरे देश में कोरोना महामारी का प्रकोप जारी है। कोरोना के मद्देनजर राज्य के लोगों से आग्रह किया जा रहा है कि वे दीपावली व काली पूजा के दौरान पटाखें नहीं फोड़ें। इसके साथ ही मॉस्क का इस्तेमाल करें। उन्होंने कहा, राज्य में अभी भी बहुत से लोग कोरोना से पीड़ित हैं और कुछ लोग आइसोलेशन में हैं। कई तरह की बीमारियों से पीड़ित हैं। ऐसी स्थिति में पटाखों के धुएं से वायु प्रदूषण बढ़ेगा। उन्हें कष्ट हो सकता है। अतः लोगों की सेहत की ध्यान रखते हुए कृपया पटाखे नहीं फोड़ें।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (फाइल फोटो)

पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव बंद्योपाध्याय ने आगे कहा कि कालीपूजा के बाद विसर्जन को लेकर कोई शोभायात्रा का आयोजन नहीं किया जायेगा। पुलिस के साथ विचार-विमर्श कर इस संबंध में अंतिम रूपरेखा बनायी जाएगी। उन्होंने कहा कि काली पूजा के दौरान दुर्गा पूजा की तरह ही पंडाल चारों से खुले होंगे तथा कोरोना महामारी के नियमों का पालन करना अनिवार्य होगा। उन्होंने दावा किया कि दुर्गा पूजा में बड़ी संख्या में लोग बाहर निकले थे। इसके बावजूद संक्रमण होने वालों की संख्या में निरंतर कमी आ रही है। यह बहुत ही संतोष की बात है।

पर्यावरणविद् सुभाष दत्ता ने ममता बनर्जी सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि पटाखों से वायु प्रदूषण बढ़ता है। इसलिए पटाखों के निर्माण व बिक्री को सदा के लिए क्वारेंटिन किया जाना चाहिए।

उल्लेखनीय है कि सोमवार को ही कई शहरों में बढ़ते वायु प्रदर्शण को देखते हुए नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) ने केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय तथा यूपी समेत 4 राज्यों की सरकारों को नोटिस जारी कर आगामी 07 से 30 नवंबर तक पटाखों पर प्रतिबंध लगाने को कहा है।

बता दें कि पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या 3 लाख 85 हजार से भी ज्यादा हो चुकी है। पश्चिम बंगाल में कोविड-19 से मंगलवार को 56 और मरीजों की मौत हुई है, जिससे राज्य में मृतकों की संख्या बढ़कर 7,013 पर पहुंच गई। वहीं राज्य में 4,058 मरीज ठीक हुए, जिससे राज्य में ठीक हो चुके लोगों की कुल संख्या बढ़कर 3,42,133 हो गई। स्वास्थ्य विभाग ने एक बुलेटिन में यह जानकारी दी।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close