Breaking NewsTop Newsक्राइमदेशबिहारराजनीतिवायरलसोशल मीडिया

चुनावी सभा में भाषण दे रहे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर फेंके पत्थर और प्याज

चुनावी सभाओं में नाराज वोटर्स अक्सर नेताओं के खिलाफ नारेबाजी करते रहते हैं तो कुछ वोटर्स मंच पर चप्पल-जूते तक फेंक देते हैं। बिहार विधानसभा चुनाव में प्रचार-प्रसार के दौरान मधुबनी में चुनावी सभा को संबोधित कर रहे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर एक शख्स ने अचानक प्याज फेंकने शुरू कर दिए। अचानक हुए इस हमले के बाद सुरक्षाकर्मियों ने मुख्यमंत्री के सामने खड़े होकर उनको सुरक्षा प्रदान की तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुस्साए व्यक्ति को जवाब में कहा कि खूब फेंको प्याज। बता दें कि हरलाखी में चुनाव प्रचार के दौरान नीतीश कुमार को भारी विरोध का सामना करना पड़ा।

हरलाखी में चुनाव प्रचार के दौरान जब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मंच से भाषण दे रहे थे तभी एक शख्स उनपर प्याज फेंकने लगा। बताया जा रहा है कि वह शख्स शराबबंदी को लेकर नारेबाजी कर रहा था। उसका दावा था कि बिहार में शराबबंदी के बावजूद धड़ल्ले से शराब बिक रही है। लेकिन सरकार और पुलिस तंत्र इसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। प्याज चलते देख मंच पर नीतीश कुमार के सुरक्षाकर्मी सामने आ गए। नीतीश कुमार ने मंच से ही कहा कि खूब फेंको..और फेंको. उन्होंने सुरक्षाकर्मियों से यह भी कहा कि इन्हें रोकने की जरूरत नहीं है, छोड़ दीजिए इनको, किसी पर ध्यान मत दीजिए। अपनी बात आगे बढ़ाते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि जान लो, बिहार में रोजगार का इतना अवसर पैदा होगा कि किसी प्रवासी को बाहर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। उन्होंने तेजस्वी यादव के 10 लाख के वादे पर पलटवार करते हुए कहा कि बिहार में उनकी 15 साल सरकार थी जिसमें बिहार और झारखंड एक था। फिर भी 95 हजार लोगों को नौकरी मिली। उन्होंने आगे कहा, जब हम लोगों को मौका मिला तो 6 लाख से ज्यादा लोगों को सरकारी नौकरी दी। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव के बेटे तेजस्वी यादव को जवाब देते हुए नीतीश कुमार ने कहा, कोई बोलता है जिसे क ख ग घ का ज्ञान नहीं है।

विदित हो कि बिहार विधानसभा चुनाव-2020 के दौरान पहले भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को इस तरह की स्थिति का सामना करना पड़ा था। पिछले हफ्ते भी नीतीश कुमार जब मुजफ्फरपुर के कांटी विधानसभा क्षेत्र में चुनावी भाषण दे रहे थे तो कुछ लोगों ने उनके विरोध में नारे लगाए। कुछ लोगों ने नीतीश कुमार के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे भी लगाए। इसके जवाब में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने क्यों मुर्दाबाद कह रहे हो, जिसका जिंदाबाद कहना है उसकी रैली में जाओ। नीतीश कुमार विरोध के बावजूद संयमित दिखे और अपनी सरकार के कामकाज गिनाते रहे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि मुझे मालूम है कि कुछ लोगों को न ज्ञान है और न अनुभव है, हम समाज को एक करने में लगे हैं और वे लोग समाज को बांटने में लगे हैं।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close