Breaking NewsTop Newsदेशनई दिल्लीमहाराष्ट्रराजनीतिवायरलसोशल मीडिया

मुसीबत में महाराष्ट्र सरकार, मंत्री चव्हाण का आरोप कांग्रेस शासित नगर निगमों को फंड नहीं देते मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे गठबंधन के सहारे मुख्यमंत्री की कुर्सी संभाले हुए हैं। किंतु समय आगे बढ़ने के साथ उनकी कुर्सी को झटके लगते रहते हैं। कांग्रेस नेता और महाराष्ट्र सरकार में लोक निर्माण मंत्री अशोक चव्हाण ने आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री उद्धव कांग्रेस शासित नगर निगमों को फंड नहीं दे रहे हैं। शुक्रवार शाम को मराठवाड़ा में भारी बारिश से हुए नुकसान की समीक्षा के लिए पूर्व सीएम अशोक चव्हाण परभणी पहुंचे थे। यहां एक कार्यक्रम में बोलते हुए मंत्री चव्हाण ने कहा, “कांग्रेस शासित नगर निगमों को मुख्यमंत्री से पैसा नहीं मिलता। इसलिए नांदेड़ को भी फंड नहीं मिला। हालांकि, लोक निर्माण विभाग ने अपने प्रयास से इसे धन मुहैया करवाया है।”

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने अपनी ही उद्धव सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, “मेरा मानना है कि सत्ता में रहते हुए क्षेत्र का विकास होना चाहिए। दुर्भाग्य से हमारे क्षेत्र (नांदेड़) में कोरोना के लिए तय की गई राशि का सिर्फ 30% ही मिला। हम चाहते हैं कि मराठवाड़ा के लिए ज्यादा से ज्यादा पैसा मिले।”

कांग्रेस पार्टी की अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और उनके बेटे आदित्य ठाकरे (फाइल फोटो)

राज्य सरकार के साथ राज्य के पीडब्लूडी मंत्री व कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण ने दिल्ली में बैठे कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा कि महाराष्ट्र में विधानसभा चुनावों के बाद दिल्ली के कांग्रेस नेता, शिवसेना के साथ गठबंधन करके सरकार बनाने के पक्ष में नहीं थे। लेकिन, महाराष्ट्र कांग्रेस के नेताओं की जिद के कारण महाराष्ट्र विकास अघाड़ी गठबंधन बना और उद्धव को मुख्यमंत्री चुना गया।” उन्होंने आगे कहा,”दिल्ली में कांग्रेस के नेता दुविधा में थे कि शिवसेना के साथ गठबंधन करें या नहीं। लेकिन, राज्य में कांग्रेस के नेताओं की राय थी कि उन्हें भाजपा को रोकने के लिए शिवसेना के साथ गठबंधन करना चाहिए। भाजपा ने कांग्रेस को खत्म करने के लिए काम करना शुरू कर दिया था, इसलिए कांग्रेस पार्टी शिवसेना के साथ आने के लिए तैयार हुई।” चव्हाण ने कहा कि मैंने खुद दिल्ली जाकर वरिष्ठ नेताओं से बात की और उन्हें समझाने का प्रयास किया। इसके बाद कांग्रेस महाविकास आघाड़ी सरकार में शामिल हुई। बता दें कि महाराष्ट्र में शिवसेना, कांग्रेस और राकांपा के गठबंधन वाली सरकार सत्ता में है।

प्रदेश के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर इस तरह कैबिनेट मंत्री द्वारा आरोप लगाए जाने से आहत शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा, ‘‘अशोक चव्हाण ने सीएम उद्धव ठाकरे के लिए जो बात कही है वह ठीक नहीं है। मुझे लगता है अशोक चव्हाण जिसके बारे में बोल रहे हैं वे सीएम से संबंधित ही नहीं है। महानगरपालिका की निधि के मसले को बातचीत से सुलझाया जा सकता है। दशहरे के भाषण में सीएम उद्धव ने कहा था कि किसी के साथ अन्याय नहीं होगा।’’

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close