Breaking NewsTop Newsक्राइमदेशनई दिल्लीराजनीतिवायरलसोशल मीडियाहरियाणा

निकिता हत्याकांड को लेकर करणी सेना के अध्यक्ष ने कहा- हमें खून के बदले खून चाहिए, देश मे लव जिहाद नहीं होने दिया जाएगा

देश की राजधानी से सटे हरियाणा के फरीदाबाद में सोमवार को दिनदहाड़े कार सवार दो बदमाशों ने मिल्क प्लांट रोड पर अग्रवाल कॉलेज से परीक्षा देकर घर लौट रही बी.कॉम फाइनल ईयर की 20 वर्षीय छात्रा निकिता तोमर की गोली मारकर हत्या कर दी थी। लहू-लुहान हालत में जब छात्रा को निजी अस्पताल ले जाया गया तो वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इस मामले में तीन आरोपियों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। इस हत्या के पीछे ‘लव जिहाद’ की सुगबुगाहट शुरू होने पर मामले पर राजनीति भी शुरू हो गई है। करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सूरजपाल अम्मू मृतका नितिका तोमर के घर परिजनों से मिलने पहुंचे। जहां मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि करनी सेना निकिता हत्याकांड में खून के बदले खून की मांग करती है।

हरियाणा के फरीदाबाद में पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सूरजपाल अम्मू और अन्य साथी

करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि अब देश मे लव जिहाद नहीं होने दिया जाएगा। जहां निकिता की हत्या हुई है, वहीं आरोपियों को फांसी देने की मांग की जाती है। सूरजमल अम्मू ने कांग्रेस नेता सोनिया, राहुल, प्रियंका गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि जो हाथरस मामले में बोल रहे थे वो आज चुप हैं। उन्होंने एसआईटी में एक और सदस्य को शामिल करने की मांग है। इसके साथ ही उन्होंने इंसाफ नहीं मिलने पर कानून हाथ में लेने की चुनौती भी दी। 2018 में दर्ज मामले को दोबारा जांच और फैसला करवाने वालों पर कार्रवाई की मांग भी की गई है।

बता दें कि मुख्य आरोपी तौसिफ राजनीतिक रसूखदार परिवार से संबंध रखता है। तौसिफ के दादा कबीर अहमद विधायक रह चुके हैं, जबकि चाचा खुर्शीद अहमद हरियाणा के पूर्व मंत्री रहे हैं। वहीं, एक अन्य रिश्तेदार आफताब अहमद वर्तमान में कांग्रेस के नूंह (मेवात) से विधायक हैं। 21 वर्षीय तौसिफ फिजियो थेरेपिस्ट का कोर्स कर रहा है और थर्ड ईयर में है। वारदात में शामिल दूसरा आरोपी रेहान निवासी रेवासन जिला नूंह का रहने वाला है और वह तौसिफ का दोस्त है।

इस पूरे घटनाक्रम पर हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा है कि घटना में शामिल तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। साथ ही पुलिस ने वारदात में इस्तेमाल हथियार को भी बरामद कर लिया है। उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच एसीपी क्राइम अनिल कुमार की अध्यक्षता में एसआईटी की टीम कर रही है। गृहमंत्री विज ने कहा कि हमारी कोशिश होगी कि मामले की जल्दी जांच करवाकर पीड़ित परिवार को इंसाफ दिलाया जाए।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close