Breaking NewsTop NewsWorldक्राइमजम्मू-कश्मीरदेशनई दिल्लीवायरलसोशल मीडिया

कुलगाम में आतंकियों ने की बीजेपी के 3 नेताओं की हत्या, J & K में पिछले 6 महीने में 14 बीजेपी नेताओं की हो चुकी है हत्या

बीजेपी शासित केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर से धारा-370 हटाते हुए कहा था कि यहां के स्थानीय लोगों को पुख्ता सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी। किंतु हैरानी की बात है कि आतंकियों द्वारा लगातार बीजेपी नेताओं को ही टारगेट किया जा रहा है। जम्मू-कश्मीर पिछले साल की 5 अगस्त से केंद्र शासित प्रदेश बन चुका है और शासन-प्रशासन की जिम्मेदारी केंद्र सरकार की है। किंतु लोगों को अभी भी सुरक्षा व्यवस्था नहीं मिल पा रही है। शासन-प्रशासन का साथ देने वाले कुछ गांवों के सरपंचों को भी आतंकियों द्वारा लगातार धमकी दी जाती रही है। अब कुलगाम में आतंकवादियों ने बीजेपी युवा मोर्चा के महासचिव फिदा हुसैन समेत 3 नेताओं की हत्या कर दी है। दो अन्य नेताओं की पहचान उमर रशीद बेग और अब्देर रशीद बेग के रूप में हुई है।

कुलगाम पुलिस को गुरुवार रात 8 बजे बीजेपी के तीन नेताओं पर आतंकी हमले की सूचना मिलने के तुरंत बाद वरिष्ठ पुलिस अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गए। प्रारंभिक जांच में पता चला है कि आतंकवादियों ने बीजेपी के तीन कार्यकर्ताओं पर गोली चलाई, जिनकी पहचान फिदा हुसैन, उमर रशीद बेग और अब्देर रशीद बेग के रूप में हुई। इस हमले में तीनों घायल हुए थे किंतु जब उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया, तो डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।
पुलिस ने इस संबंध में कानून की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। इलाके की घेराबंदी कर दी गई है। कुलगाम के अलावा शोपियां में भी आतंकी हमला हुआ है। जिसमें एक युवक घायल बताया जा रहा है। उसे पास के ही अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

 

बीजेपी नेताओं की हत्या पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट किया है। पीएम मोदी ने लिखा कि बीजेपी के तीन युवा कार्यकर्ताओं की हत्या की मैं निंदा करता हूं। वे जम्मू और कश्मीर में अच्छा काम कर रहे थे। दुख के इस समय में मेरी संवदेना उनके परिवार के साथ है।

 

बता दें कि आतंकवादी कश्मीर में लगातार बीजेपी नेताओं को निशाना बना रहे हैं। पिछले 6 महीने के दौरान कश्मीर घाटी में आतंकियों ने 14 बीजेपी नेताओं की हत्या कर दी है। इसमें दो आतंकी वारदातें ऐसी हैं, जब आतंकियों ने तीन-तीन नेताओं की जान ले ली। वसीम बारी और उसके भाई-पिता की हत्या के बाद कश्मीर में बीजेपी नेता दहशत में थे। पिछले 6 महीने के दौरान हुई हत्या की वारदातों में सबसे ज्यादा हत्याएं अगस्त में हुई हैं। अगस्त में कश्मीर में 5 नेताओं की हत्या की गई, इनमें सरपंच भी शामिल हैं। इस दौरान सुरक्षा बलों की तरफ से इन हत्याओं में शामिल आतंकियों को मार गिराया गया। लेकिन उसके बावजूद हत्याएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। पिछले 6 महीने में इन वारदातों में ये नेता मारे गए हैं
• 4 मई को अनंतनाग में अतल गुल मीर की हत्या।
• 30 जून को शोपियां में बीजेपी नेता गौहर बट की हत्या।
• 5 जुलाई को पुलवामा में शब्बीर बट की हत्या।
• 8 जुलाई को वसीम बारी उसके पिता और भाई की हत्या।
• अगस्त के पहले हफ्ते में कुलगाम में सरपंच आरिफ अहमद शाह की हत्या।
• 7 अगस्त को काजीकुंड में सरपंच सज्जाद अहमद की हत्या।
• 10 अगस्त को बडगाम में हमीद नजर की हत्या।
• 19 अगस्त को सरपंच का अपहरण करके हत्या, शव शोपियां में 28 अगस्त को बरामद।
• 7 अक्टूबर को गांदरबल में बीजेपी नेता के घर पर आतंकी हमला, नेता बच गया लेकिन पीएसओ शहीद हुआ।
• 29 अक्टूबर को कुलगाम में तीन बीजेपी नेताओं की हत्या।

उल्लेखनीय है कि सोशल मीडिया पर देश भर से केंद्र की मोदी सरकार को गुहार लगाई जा रही है कि जम्मू-कश्मीर में आतंकियों द्वारा लगातार की जा रही बीजेपी नेताओं, सरपंचों और स्थानीय नागरिकों की हत्या को ध्यान में रखते हुए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था का इंतजाम किया जाए।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close