Breaking NewsTop Newsक्राइमदेशनई दिल्लीमहाराष्ट्रराजनीतिवायरलसोशल मीडियाहरियाणाहिमाचल प्रदेश

हरियाणा में निकिता हत्याकांड पर कंगना राणावत ने किया ट्विट, कहा- जेहादियों को जल्दी फांसी दो

हरियाणा में फरीदाबाद के बल्लभगढ़ में एक कॉलेज की छात्रा निकिता की दिनदहाड़े हुई हत्या को लेकर देशभर में हंगामा मचा हुआ है। बता दें कि इस मामले में पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। मंगलवार को पुलिस ने दोनों आरोपियों तौसीफ और रेहान को कोर्ट में पेश किया जहां से उन्हें दो दिन की पुलिस रिमांड में भेज दिया गया। अब इस मामले पर बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना राणावत ने ट्विट कर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाली अभिनेत्री कंगना राणावत ने अपनी एक पोस्ट में कहा- ,’फ्रांस में जो हुआ उस पर पूरी दुनिया अचंभित रह गई थी, इसके बावजूद इन जिहादियों को कोई शर्म और लॉ एंड आर्डर का कोई भय नहीं है। एक हिन्दू लड़की की दिनदहाड़े कॉलेज के सामने हत्या इसलिए कर दी गई कि उसने इस्लाम स्वीकार करने से इंकार कर दिया था। तत्काल कार्रवाई हो।’ अभिनेत्री कंगना राणावत ने अपने ट्वीट में आगे लिखा #WeWantEncounterofTaufeeq (हम तौसीफ का एनकाउंटर चाहते हैं)। फ्रांस की राजधानी पेरिस में टीचर की हत्या के वक्त भी अभिनेत्री कंगना राणावत ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए ट्वीट में लिखा था,’हिंदुओं की जिंदगी मायने नहीं रखती, पश्चिमी देश द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान 5-6 मिलियन यहूदियों के नरसंहार पर आज भी फिल्में बना रहे हैं। इसलिए यह घटना दोबारा नहीं हुई‌। हमें नहीं पता कि सैकड़ों वर्ष की गुलामी में कितने हिंदुओं का नरसंहार हुआ होगा। यह आंकड़ा द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान यहूदियों के नरसंहार से 100 गुना भी हो सकता है।’

 

दिल्ली-एनसीआर में हरियाणा के बल्लभगढ़ में छात्रा निकिता तोमर की हत्या का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। दिनदहाड़े छात्रा निकिता की हत्या के बाद लोगों की नाराजगी बढ़ती जा रही है‌। निकिता हत्याकांड के दोनों आरोपियों तौसीफ और रेहान को पुलिस ने गिरफ्तार कर दो दिन की रिमांड पर भेज दिया गया है। बताया जा रहा है कि आरोपी तौसीफ ने पुलिस के सामने अपना गुनाह कबूल कर लिया है। लोगों ने जल्द से जल्द दिवंगत छात्रा निकिता तोमर के हत्यारों को फांसी देने की मांग की है।

दिवंगत छात्रा निकिता के पिता का दावा है कि आरोपी की मां भी पिछले दो साल से बेटी पर धर्म परिवर्तन का दबाव डाल रही थी और वह कई दफा उनकी बेटी को फोन करके उसे धर्म परिवर्तन के लिए कहती थी, जिससे मेरी बेटी काफी परेशान होती थी। निकिता द्वारा इस्लाम कबूल न करने पर उसे मार दिया गया। बता दें कि हरियाणा सरकार इस मामले की एसआईटी जांच कराने का आदेश दे चुकी है।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close