Breaking NewsTop Newsदेशनई दिल्लीबिहारराजनीतिवायरलसोशल मीडिया

नीतीश कुमार ने लालू यादव के लिए कहा- 9 बच्चे पैदा करने वाले क्या विकास करेंगे।तेजस्वी ने कहा-पीएम मोदी हैं 6-7 भाई-बहन

बिहार विधानसभा चुनाव के प्रचार-प्रसार में जुटे नेता अब निजी तौर पर बयानबाजी करने लग गए हैं। विदित हो कि ये कोई छुटपुट नेतागण नहीं बल्कि एक बिहार के मुख्यमंत्री हैं तो दूसरे पूर्व मुख्यमंत्री के बेटे और महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के दावेदार हैं। बिहार के वैशाली जिले के महनार में चुनावी मंच से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने चुनावी मंच से लालू प्रसाद यादव के 9 बच्चों पर कुछ ऐसा तंज कसा कि लोग भी हतप्रभ रह गए। अपने प्रत्याशी के समर्थन में चुनावी सभा करने पहुंचे नीतीश कुमार ने कहा कि 8-8, 9-9 बच्चे पैदा करने वाले बिहार का विकास करने चले हैं।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आगे कहा कि बेटे की चाह में कई बेटियां हो गईं। मतलब बेटियों पर भरोसा नहीं है। ऐसे लोग क्या बिहार का भला करेंगे? अगर यही लोगों के आदर्श हैं तो समझ लीजिए बिहार का क्या बुरा हाल होगा, कोई पूछने वाला नहीं रहेगा, सबका सब बर्बाद हो जाएगा। हम सेवा करते हैं और वे मेवा और माल चाहते हैं। इन्हीं कर्मों की वजह से अंदर जाते हैं।

चुनावी सभाओं में एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप का खेल खेल रहे इन नेताओं के बयानों से हर कोई हैरान है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लालू प्रसाद यादव का बिना नाम लिए उनके बेटे-बेटियों की संख्या पर कटाक्ष किया था तो अब पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव के बेटे और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर पलटवार करते हुए जवाब दिया है।

पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा, ‘हमारे बहाने नीतीश कुमार जी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को निशाना बना रहे हैं। मोदी जी के भी 6-7 भाई-बहन हैं। हम तो पहले भी कह चुके हैं कि नीतीश कुमार पूरी तरह थक चुके हैं। हमें वो कितनी भी गाली दें हम आशीर्वाद के तौर पर लेंगे।’ तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश के इस बयान को महिलाओं का अपमान बताया। कहा, नीतीश बेरोजगारी, गरीबी पर बात नहीं करना चाहते।

बिहार के मुख्यमंत्री और पूर्व उपमुख्यमंत्री के इस आरोप-प्रत्यारोप में बीजेपी ने भी एंट्री मार ली है। भाजपा ने तेजस्वी यादव के पलटवार पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का बचाव किया है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने कहा है कि किसी के बहाने कोई निशाना नहीं साध रहा है। जिसके माता पिता दोनों मुख्यमंत्री रहे हों वह दसवीं भी नहीं कर सका अब वो नौकरी देने की बात करता हो तो इससे ज्यादा हास्यास्पद और क्या हो सकता है? उन्होंने कहा कि हर परिवार को बेटे और बेटी को एक बराबर देखना चाहिए। पढ़ी लिखी बेटियों की जगह 9वीं पास बेटे को आगे बढ़ाना गलत है।

बता दें कि बिहार के वैशाली की जनसभा में जेडीयू उम्मीदवार के पक्ष में प्रचार करने पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लालू का बिना नाम लिए कहा था, ‘किसी को प्रजनन दर के बारे में क्या मालूम है। 8-8,9-9 बच्चा-बच्ची पैदा करता है। बेटी पर भरोसा ही नहीं। कई बेटियां पैदा हो गईं, तब बेटा पैदा हुआ। ये कैसा बिहार बनाना चाहते हैं। यही लोग आदर्श हैं तो सोचिए बिहार का क्या हाल होगा? कोई पूछने वाला नहीं होगा। कुछ लोगों के लिए परिवार ही सबकुछ है।’

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close