Breaking NewsTop Newsदेशनई दिल्लीमध्य प्रदेशराजनीतिवायरलसोशल मीडिया

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने अफसरों से निपटने की बात कही तो मुख्यमंत्री शिवराज ने अफसरों को धमकाने का लगाया आरोप

मध्यप्रदेश में उपचुनाव के चलते प्रचार-प्रसार के दौरान नेताओं के गिरते बयानों की मर्यादा कम होती नहीं दिख रही है। कांग्रेस पार्टी के राज्यसभा सांसद और मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने आरोप लगाया कि बीजेपी अधिकारियों के दम पर चुनाव जीतना चाहती है। उसे जनता पर भरोसा नहीं है। वो धन-बल का दुरुपयोग करेगी। दिग्विजय सिंह ने चुनाव आयोग से शिकायत कर कार्रवाई की मांग की है।

प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ सिंह और दिग्विजय सिंह पर अफसरों को धमकाने का आरोप लगाया है। मंगलवार को दिग्विजय सिंह ने चुनाव आयोग से शिकायत भी की। उन्होंने कहा कि ऐसे अधिकारी और तत्व समझ ले जो नियम विरुद्ध भाजपा का साथ दे रहे हैं, हम सत्ता में रहे या ना रहें वैसे तो हम रहेंगे लेकिन हमें ऐसे तत्वों से निपटना अच्छे से आता है। उन्होंने कहा कि शिवराज सरकार अफसरों पर दबाव बनाकर चुनाव जीतना चाहती है।

मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि ‘अपनी संभावित पराजय से बौखला कर कांग्रेस के नेता कमलनाथ और दिग्विजय सिंह, आजकल कर्मचारियों और अधिकारियों को धमका रहे हैं। रोज धमकी दी जा रही है, हम देख लेंगे, निपट लेंगे, हम निपटा देंगे। आखिर उनका भी आत्मसम्मान होता है। उनके मनोबल को तोड़ने की कोशिश की जा रही है, उनका अपमान किया जा रहा है। धमकाना भी चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन है। इसलिए मैं माननीय चुनाव आयोग से निवेदन करता हूं कि वह मामले में स्वत: संज्ञान ले और धमकाने वालों के खिलाफ कार्रवाई करे।’

कांग्रेस के दो वरिष्ठ नेता और मध्यप्रदेश के दो पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और कमलनाथ सिंह (फाइल फोटो)

दिग्विजय सिंह ने कहा कि पिछली बार जो हमनें शिकायत की थीं वो सही साबित हुईं। उसके बावजूद किसी पर कार्रवाई नहीं की गयी। दिग्विजय सिंह ने चुनाव आयोग से मांग की है कि सेंसेटिव पोलिंग बूथ पर सेंटर फोर्स का प्रयोग किया जाए। जिन प्रत्याशियों के खिलाफ मामले दर्ज हैं उनके ऊपर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। उम्मीदवारों को नामांकन पत्र वापसी की तारीख के तत्काल बाद पोस्टल बैलेट की लिस्ट मिल जाना चाहिए, जो अभी तक नहीं मिली है। कोविड को ध्यान में रखते हुए 80 साल से ज़्यादा उम्र के लोगों, दिव्यांग ओर सस्पेक्टेटड कोविड मरीज़ों के लिए पोस्टल बैलेट की व्यवस्था है। इसकी सूची तैयार हो गई थी लेकिन अभी तक कांग्रेस उम्मीदवारों को वो सूची नहीं दी गयी है। जबकि पोस्टल बैलेट डालना शुरू हो चुका है।

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती के तिरंगे झंडे के अपमान वाले बयान पर मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कोई कमेंट करने से इंकार कर दिया और कहा कि आज प्रदेश की बात की जाए। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के झोला वाले बयान पर दिग्विजय सिंह ने कहा न नरेंद्र मोदी का झोला खाली है न ही मामा का झोला खाली है। शिवराज सिंह झूठ बोल कर लोगों का हक मार रहे हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ऐसे किसान पुत्र हैं जिन्होंने 15 साल में एक भी किसान का कर्ज माफ नहीं किया है। बीजेपी लगातार आरोप लगाती है कि कमलनाथ उद्योगपति हैं। कमलनाथ का कौन सा उद्योग है आप बता दें। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने बीजेपी सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया की सीना ठोक कर एक्टिंग भी की। दिग्विजय ने कहा प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ निश्चित तौर पर मध्य प्रदेश के भावी मुख्यमंत्री हैं।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close