Breaking NewsFoodsLife StyleTop NewsTravelछोटा पर्दादेशमनोरंजनमहाराष्ट्रवायरलसिनेमासोशल मीडिया

लॉकडाउन में मसीहा बने सोनू सूद की मदद को यूजर ने बताया ‘पीआर स्टंट’, एक्टर ने सबूत के साथ दिया मुंहतोड़ जवाब

अक्सर कहा जाता है कि एक हाथ से इस तरह से दान देना चाहिए कि दूसरे हाथ को पता ही नहीं चले। किंतु आज सोशल मीडिया के जमाने में दानकर्ताओं की हर छोटी-बड़ी उपलब्धि सोशल मीडिया पर वायरल हो जाती है। अगर दानकर्ता बॉलीवुड स्टार हो तो फिर खबर वायरल होना साधारण सी बात है। देशव्यापी लॉकडाउन में बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद, जरूरतमंदों की मदद कर लोगों के लिए मसीहा बने, लेकिन उनकी यह दरियादिली कई लोगों के गले के नीचे नहीं उतर रही है। इसलिए सोनू सूद को सोशल मीडिया पर अपमानित करने का मौका ढूंढ़ते रहते हैं। हाल ही में एक ट्विटर यूजर ने अभिनेता सोनू सूद के मदद करने को ‘पीआर स्टंट’ बता दिया। इस पर यूजर को मुंहतोड़ जवाब देते हुए सोनू सूद ने अस्पताल में एडमिट हुए एक पेशेंट के बिल की कॉपी को ट्विटर पर शेयर किया है।

बता दें कि स्नेहिल नाम के एक ट्विटर यूजर ने ट्वीट करके अपने बीमार बच्चे के इलाज के लिए सोनू सूद से मदद मांगी थी और उम्मीद के मुताबिक एक्टर ने उनकी मदद कर भी दी। अब एक दूसरे ट्विटर यूजर ने इस घटनाक्रम पर सवाल उठाते हुए लिखा, “एक नया ट्विटर अकाउंट, जिसके दो या तीन फॉलोअर्स हैं, केवल एक ट्वीट है। उसने सोनू को टैग भी नहीं किया है, लोकेशन का भी कोई जिक्र नहीं है। कोई कॉन्टैक्ट भी नहीं है, न कोई ईमेल एड्रेस। लेकिन, सोनू को वह ट्वीट मिल जाता है और वह उसकी मदद कर देते हैं। ऐसे बहुत सारे अकाउंट्स डिलीट कर दिए गए हैं, जिन्होंने मदद मांगी थी। पीआर टीम ऐसे ही काम करती है।”

इस तरह के गैर-जिम्मेदाराना ट्विट पर सोनू सूद के फैन्स ने उसे ट्रोल करना शुरू कर दिया।इसका जवाब देते हुए एक्टर सोनू सूद ने बिल की फोटो शेयर कर दी है, जिसमें उन सभी लोगों की जानकारियां हैं जिनका बिल या जिनका इलाज सोनू सूद ने करवाया है।

लोगों के लिए मसीहा बने एक्टर सोनू सूद ने सोशल मीडिया पर यह जानकारी शेयर करते हुए लिखा, “यह सबसे अच्छी बात है भाई। मैं जरूरदतमंदों को ढूंढ लेता हूं और वह भी मुझे ढूंढ ही लेते हैं। यह सब नेक इरादों की बात है। खैर, आप नहीं समझेंगे। कल यह मरीज एसआरसीसी अस्पताल में होंगे। कृपया अपनी तरफ से इन्हें फल ही भिजवा दीजिएगा, जिसके महज दो या तीन फॉलोअर्स हैं। वो आप जैसे ज्यादा फॉलोअर्स वाले से प्यार पाकर खुश होंगे।”

ट्विट के जरिए सबूत दिखाने के बाद भी यूजर रिषी बागरी संतुष्ट नजर नहीं आया। क्योंकि उसने रिपोर्ट्स देखने के बाद भी लिखा था- डेट्स देखें, रिपोर्ट्स की गई- 17 सितंबर को। सर्जरी की गई-: 25 सितंबर को। ट्वीट किया गया- 20 अक्टूबर को। मदद का आश्वासन दिया गया – 20 अक्टूबर को। बेसिकली आपने पहले से इलाज करवा रहे किसी व्यक्ति को मदद का आश्वासन दिया। अपनी पीआर टीम को हटा दीजिए जिसने आपकी धोखाधड़ी को उजागर कर दिया है।

लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंद लोगों की बस उपलब्ध करवाकर मदद करते हुए अभिनेता सोनू सूद (फाइल फोटो)

बता दें कि जरूरतमंद लोगों की सोनू सूद इन दिनों मदद करने में लगे हुए हैं चाहे जरूरतमंद को हस्पताल में आर्थिक सहयोग की जरूरत हो, बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाई के लिए मोबाइल फोन की जरूरत हो, बेरोजगार को रोजगार चाहिए हो या फिर यात्रा करने के लिए बस/किराए की जरूरत हो। उन्हें आए दिन किसी न किसी जरूरतमंद की मदद करते देखा और सुना जा सकता है। हालांकि, उन पर यह आरोप भी लगाए जाते रहे हैं कि यह उनका केवल ‘पीआर स्टंट’ है और वह केवल लोकप्रियता के लिए लोगों की मदद कर रहे हैं।

 

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close