Breaking NewsTop NewsWorldदेशनई दिल्लीमहाराष्ट्रवायरलविदेशसोशल मीडिया

पूर्व सॉलिसिटर जनरल हरीश साल्‍वे 65 वर्ष की आयु में धर्म परिवर्तन कर रचाएंगे दूसरी शादी, सलमान खान का लड़ चुके हैं केस

अक्सर कहा जाता है कि इश्क करने की कोई उम्र नहीं होती है। मगर समाज में शादी करने की उम्र को लेकर जरूर चर्चा होती रहती है। जानकारी के मुताबिक, भारत के पूर्व सॉलिसिटर जनरल और सुप्रीम कोर्ट के वरिष्‍ठ वकील हरीश साल्‍वे अगले हफ्ते दूसरी शादी करने जा रहे हैं। बता दें कि 65 वर्षीय हरीश साल्‍वे ब्रिटेन में क्वींस काउंसिल भी हैं। वह ब्रिटेन के एक चर्च में कैरोलिन ब्रॉसर्ड के साथ शादी करेंगे। हरीश और कैरोलिन दोनों की यह दूसरी शादी है। अभी पिछले महीने ही हरीश साल्‍वे ने अपनी पत्‍नी मीनाक्षी साल्‍वे को तलाक दे दिया और 38 वर्षीय वैवाहिक जीवन से कानूनी तौर पर अलग हो गए। पहली पत्नी से एडवोकेट हरीश साल्वे की दो बेटियां भी हैं।

बताया जा रहा है कि दूसरी शादी करने के लिए सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील हरीश साल्‍वे धर्म परिवर्तन करके ईसाई बन चुके हैं। साल्‍वे उत्‍तरी लंदन स्थित एक चर्च में पिछले दो सालों से नियमित जा रहे हैं। एडवोकेट हरीश की तरह ही उनकी होने वाली पत्‍नी कैरोलिन भी पहले शादीशुदा थीं। उनकी एक बेटी भी है। 56 वर्षीय कैरोलिन पेशे से कलाकार हैं। एडवोकेट हरीश साल्‍वे कई अंतर्राष्ट्रीय‍ट्रीय मामलों में भारत सरकार की पैरवी कर चुके हैं। देश के चर्चित मामलों में बड़े व्‍यापारियों और बड़ी कंपनियों की भी पैरवी कर चुके हैं।

सीनियर एडवोकेट हरीश साल्वे अपनी होने वाली पत्नी कैरोलिन के साथ (सौजन्य: सोशल मीडिया)

बॉलीवुड के सबसे चर्चित मामले हिट एंड रन केस(2015) में सलमान खान को कोर्ट ने 5 साल की सजा सुनाई थी। उन्हें कोर्ट से सीधे ऑर्थर रोड जेल ले जाने की तैयारी हो रही थी। इसी बीच एडवोकेट हरीश साल्वे ने कोर्ट में आरोपी सलमान खान का मजबूत पक्ष रखते हुए उनको बेल दिलवा दी। जानकारी के मुताबिक, एडवोकेट हरीश साल्वे ने कोर्ट में तर्क दिया था कि ऑर्डर की कॉपी नहीं मिलने के कारण अभिनेता सलमान खान को जेल नहीं भेजा जा सकता है। उनके इसी तर्क को सही मानते हुए कोर्ट ने सलमान खान को दो दिन की जमानत दे दी थी। देश दुनिया के नामी उद्योगपतियों और कंपनियों वोडाफोन, रिलायंस, मुकेश अंबानी, रतन टाटा जैसे सभी बड़े नामों के कानूनी मामलों की कोर्ट में नुमाइंदगी भी हरीश साल्वे करते रहे हैं।

कहा जाता है कि सीनियर एडवोकेट हरीश साल्वे को पियानो बजाना, बेंटले कार चलाना और किताबें पढ़ने का शौक है। उन्हें महंगे गैजेट्स इकट्ठे करने का भी शौक है और वह नए-नए मोबाइल रखने के शौकीन हैं। बता दें कि वह देश के सबसे महंगे एडवोकेट में गिने जाते हैं। कई जगह कहा जाता है कि वह एक पेशी का कम से कम 4.5 लाख रुपए लेते हैं। वहीं यह भी चर्चा है कि वह चर्चित मामलों में एक दिन का 30 लाख रुपए तक चार्ज करते हैं। भारत सरकार की विदेश मंत्री दिवंगत सुषमा स्वराज के आग्रह पर उन्होंने अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में भारत की पैरवी करते हुए कुलभूषण जाधव मामले की सुनवाई के लिए सिर्फ एक रुपए फीस ली थी।

पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के आकस्मिक निधन के बाद एडवोकेट हरीश साल्वे को दिवंगत बीजेपी नेता सुषमा स्वराज की बेटी बांसुरी स्वराज ने एक रुपए की फीस दी थी (फाइल फोटो)

बता दें कि चीफ जस्टिस ऑफ़ इंडिया जस्टिस शरद अरविंद बोबडे और एडवोकेट हरीश साल्वे दोनों की पढ़ाई महाराष्ट्र के नागपुर शहर में एक स्कूल से हुई है। वर्ष 1976 में एडवोकेट साल्वे दिल्ली आ गए और बोबडे मुंबई हाई कोर्ट चले गए। बाद में बोबडे हाई कोर्ट में जज बन गए और साल्वे सीनियर एडवोकेट और फिर सॉलिसिटर जनरल। एडवोकेट हरीश साल्‍वे कई अंतर्राष्ट्रीय‍ट्रीय मामलों में भारत सरकार की पैरवी कर चुके हैं। बता दें कि ब्रिटेन और वेल्स की अदालतों के लिए हरीश साल्वे को वहां की महारानी का वकील भी नियुक्त किया जा चुका है। ब्रिटेन के न्याय मंत्रालय ने 16 मार्च 2020 उन्हें यह नियुक्ति दी थी।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close