Breaking NewsTop Newsक्राइमदेशनई दिल्लीमध्य प्रदेशराजनीतिवायरलसोशल मीडिया

बीजेपी की महिला नेता को ‘आयटम’ कहने पर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ सिंह को राहुल गांधी ने लगाई फटकार

बिहार विधानसभा चुनाव में आरोप-प्रत्यारोप और भाषाओं की गिरती मर्यादा के बीच बयानों पर लगाम लगाने की एक उम्मीद नजर आ रही है। पिछले दिनों मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ सिंह डबरा से कांग्रेस प्रत्याशी सुरेश राजे के समर्थन में चुनावी सभा को संबोधित करने पहुंचे थे, इस दौरान उन्होंने बीजेपी प्रत्याशी इमरती देवी पर तंज कसते हुए अपने कार्यकर्ताओं से कहा था कि आप तो उन्हें मुझसे ज्यादा पहचानते हैं, आपको मुझे पहले ही सावधान कर देना चाहिए था, ये क्या आइटम है। पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा इस तरह की आपत्तिजनक टिप्पणी का काफी विरोध हुआ था।

 

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी अध्यक्ष कमलनाथ सिंह के आइटम वाले बयान पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। राहुल गांधी ने कहा कि कमलनाथ सिंह भले ही मेरी पार्टी के हैं, वे चाहे जो भी हों, लेकिन जिस भाषा का उन्होंने इस्तेमाल किया है, मैं निजी तौर पर उसे पसंद नहीं करता।

इस घटनाक्रम पर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा, ”अब वह राहुल जी की राय है, उनको जो समझाया गया कि किस संदर्भ में मैंने ये कहा था। मैंने तो साफ कर दिया मैंने किस संदर्भ में कहा था, इसमें और कहने की आवश्यकता नहीं है।” क्या आप माफी मांगेंगे इमरती देवी से? इसके जवाब में पूर्व सीएम ने कहा, ”मैं क्यों माफी मांगूंगा, मेरा लक्ष्य नहीं था किसी को अपमानित करना। यदि कोई अपमानित अहसास करता है तो मुझे खेद है, यह तो कल मैंने कह दिया था।

कमलनाथ सिंह के इस बयान पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत कई नेताओं ने मौन धरना दिया था। उधर मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ सिंह की इस आपत्तिजनक टिप्पणी के बाद बीजेपी की मंत्री इमरती देवी ने इस पूरे मामले में कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि कमलनाथ और अजय सिंह पर एफआईआर या हरिजन एक्ट दर्ज नहीं हुआ तो अपनी जान दे दूंगी। मैं कार्रवाई के लिए धरने पर बैठूंगी। उन्होंने कहा कि अगर वो ऐसा नहीं करती हैं तो कमलनाथ किसी भी महिला को ऐसे तंज कसते रहेंगे। इमरती देवी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से कमलनाथ के खिलाफ कार्यवाई करने की मांग की।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close