Breaking NewsTop NewsTravelWorldदेशमहाराष्ट्रवायरलविदेशसमय विशेषसोशल मीडिया

‘वाइल्‍डलाइफ फोटोग्राफर ऑफ द इयर अवार्ड्स’ जीतने वाली पहली भारतीय महिला फोटोग्राफर बनी ऐश्वर्या श्रीधर

समाज में आए दिन बेटियों के साथ होने वाली आपराधिक घटनाएं मन को झकझोर कर रख देती हैं और आगे जन्म लेने वाली बेटियों की सुरक्षा को लेकर आमजन चिंतित नजर आता है। किंतु हमारे देश की बेटियां इन अपराधियों के मुंह पर थप्पड़ मारते हुए हर रोज नए-नए कीर्तिमान स्थापित कर रही हैं। अब 23 साल की ऐश्वर्या श्रीधर ने फोटो ‘लाइट ऑफ पैशन’ को सबसे ज्यादा प्रशंसनीय यानि की ‘Highly Commended’ फोटो का अवार्ड जीता है। बता दें कि ऐश्वर्या श्रीधर इस अवार्ड को पाने वाली पहली भारतीय महिला फोटोग्राफर बन गई हैं।

ऐश्वर्या श्रीधर की यह विनिंग फोटो जंगल में हजारों जुगनुओं (Fireflies) से रोशन एक पेड़ की तस्वीर है। रात के अंधेरे में जगमगाते इस पेड़ के पास से एक गैलेक्सी भी गुजर रही है। जंगल में दो घंटे बिताने के बाद ऐश्वर्या श्रीधर ने 24 सेकंड में इस पेड़ की 27 तस्वीरें खींची थी। उन सभी फोटो को एक सॉफ्टवेर की मदद से कंबाइन करने पर यह तस्वीर बनी थी। ऐश्वर्या ने यह फोटो जून 2019 में भंडारदरा (Bhandardara) में ट्रेकिंग के दौरान खींची थी।

इस प्रतियोगिता में वर्ष 2020 पुरस्कार पाने को लेकर 80 से अधिक देशों से 50,000 से अधिक तस्वीरें भेजी गई थीं और इनमें से केवल 100 को पुरस्कृत किया गया। जिसमें भारत की इस बेटी की यह तस्वीर प्रथम स्थान पर रही है।

वाइल्डलाइफ फोटोग्राफर ऐश्वर्या श्रीधर की पुरस्कृत तस्वीर

कंज्यूमर सिस्टम प्रोडक्ट्स एंड इमेजिंग कम्युनिकेशन प्रोडक्ट्स के निदेशक सी सुकुमारन ने ऐश्वर्या श्रीधर को बधाई देते हुये कहा, “हम यह खबर सुनकर बहुत खुश हैं कि ऐश्वर्या श्रीधर ने 56वें वाइल्डलाइफ फोटोग्राफर ऑफ द ईयर का पुरस्कार जीता है और वह इस पुरस्कार को पाने वाली पहली भारतीय महिला बन गई हैं। हम इस पुरस्कार के लिए उन्हें बधाई देना चाहते हैं और उम्मीद करते हैं कि वह भविष्य में इस तरह के कई पुरस्कार जीतेंगीं।”

 

ऐश्वर्या श्रीधर पेशे से एक वाइल्डलाइफ फोटोग्राफर, लेखिका और फिल्म निर्माता हैं। वह अपना काफी समय पर्यावरण के संरक्षण में भी देती हैं। वे काफी लम्बे समय से पर्यावरण विनाश से उरण के पास पंजे की वेटलैंड्स को बचाने के लिए लड़ रही है। उनकी डॉक्यूमेंट्री Queen of Taru, न्यू यॉर्क में 9वें Wildlife Conservation Film Festival में विजेता रही है।

बता दें कि ऐश्वर्या श्रीधर ने 14 साल की उम्र में Sanctuary Asia Young Naturalist Award जीता था। उन्होंने युवा प्रतिभाओं को समाज में अपने योगदान के साथ सकारात्मक बदलाव लाने के लिए दिया जाने वाला ‘प्रिंसेस डायना’ अवार्ड भी जीता है। उनकी कई रचनाएँ हिंदुस्तान टाइम्स, बीबीसी वाइल्डलाइफ, मुंबई मिरर, द गार्डियन में भी चित्रित की गयी है।

 

✍️ दिनेश दिनकर

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close