Breaking NewsGamesIPL 2020Top Newsखेलदेशनई दिल्लीराजनीतिवायरलसोशल मीडिया

दिवंगत अरुण जेटली के बेटे रोहन जेटली निर्विरोध चुने गए DDCA के नए अध्यक्ष, विपक्ष ने लगाया वंशवाद का आरोप

कांग्रेस पार्टी और अन्य विपक्षी दलों पर वंशवाद का आरोप लगाने वाली बीजेपी पार्टी के ही दिवंगत नेता अरुण जेटली के बेटे रोहन जेटली को निर्विरोध DDCA (दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ) का अध्यक्ष चुना गया है। जानकारी के मुताबिक, रोहन जेटली के सामने जो शख्स डीडीसीए के अध्यक्ष पद की दावेदारी कर रहा था उस शख्स ने अपना नामांकन वापस ले लिया था। वहीं, रोहन जेटली को डीडीसीए के अन्य गुटों से समर्थन मिलने से वे निर्विरोध डीडीसीए अध्यक्ष चुने गए हैं।

दिवंगत बीजेपी नेता अरुण जेटली के साथ सीनियर पत्रकार रजत शर्मा (फाइल फोटो)

रोहन जेटली से पहले वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा डीडीसीए के अध्यक्ष चुने गए थे। लेकिन संघ में कुछ विवादों की वजह से उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। बता दें कि पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली और रजत शर्मा काफी अच्छे दोस्त रहे थे। रोहन जेटली के पिता स्वर्गीय अरुण जेटली खुद 14 वर्षों तक डीडीसीए के अध्यक्ष रहे थे।

दिवंगत बीजेपी नेता अरुण जेटली की अपने परिवार के साथ फाइल फोटो

गौरतलब है कि दिल्ली एंड डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष पद समेत 6 पदों के लिए इसी महीने चुनाव होने थे, लेकिन डीडीसीए के लोकपाल ने इनको रद्द कर दिया था। बताया जा रहा है कि अब स्थिति नियंत्रण में होने से डीडीसीए में चुनाव करवाए गए हैं जिसमें रोहन जेटली को दिल्ली क्रिकेट के अध्यक्ष के रूप में कमान मिल गई है, जबकि बाकी बचे हुए पांच पदों के लिए उपचुनाव 5 से 8 नवंबर को होंगे। विदित हो कि पिछले करीब एक साल से डीडीसीए के अध्यक्ष पद की कुर्सी खाली पड़ी थी।

31 वर्षीय नवनिर्वाचित अध्यक्ष रोहन जेटली ने भ्रष्टाचार व विवादों से भरी संस्था में ‘अनावश्यक खर्चों’ को रोकने का वादा किया है। 31 वर्षीय रोहन को संघ में सभी बड़े गुटों का सहयोग प्राप्त है। बता दें कि रोहन जेटली के सामने डीडीसीए की गुटबाजी, अदालती कार्यवाही पर खर्च हो रहे करोड़ों रुपये और डीडीसीए ग्राउंड स्टाफ को लंबे समय से नहीं मिल रहे वेतन को बहाल करना जैसी चुनौतियां हैं।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close