Breaking NewsTop Newsछोटा पर्दादेशमहाराष्ट्रराजनीतिवायरलसिनेमासोशल मीडिया

महाराष्ट्र में बार-रेस्टोरेंट चालू मगर मंदिर बंद, बीजेपी ने किया सरकार के खिलाफ प्रदर्शन, राज्यपाल ने सीएम ठाकरे को कहा सेक्युलर

वैश्विक महामारी कोरोनावायरस के चलते देश ने लॉकडाउन जैसे विचित्र माहौल का सामना किया है। अब धीरे-धीरे देश अनलॉक की प्रक्रिया की ओर बढ़ रहा है। महाराष्ट्र में मंदिर खोलने को लेकर राजनीति तेज हो गई है। बीजेपी कार्यकर्ताओं द्वारा सिद्ध विनायक मंदिर के सामने प्रदर्शन करने के बाद महाराष्ट्र के राज्‍यपाल भगत सिंह कोश्‍यारी ने भी बंद पड़े धर्मस्‍थलों को खुलवाने को लेकर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को चिट्ठी लिखी है। इस पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ठाकरे ने जवाब देते हुए कहा है कि जिस तरह से एकदम से लॉकडाउन लगाना उचित नहीं था, उसी तरह से उसे पूरी तरह से समाप्‍त करना भी ठीक नहीं है। उधर, शिवसेना सांसद संजय राउत ने भी राज्यपाल पर निशाना साधा है।

बता दें कि महाराष्‍ट्र के राज्‍यपाल भगत सिंह कोश्‍यारी ने मुख्यमंत्री ठाकरे को चिट्ठी लिखकर राज्‍य में कोरोना की वजह से बंद पड़े धर्मस्‍थलों को खुलवाने पर विचार करने कहा था। साथ ही राज्‍यपाल ने तंज कसते हुए पूछा है कि क्‍या उद्धव को ईश्‍वर की ओर से कोई चेतावनी मिली है कि धर्मस्‍थलों को दोबारा खोले जाने को टालते रहा जाए या फिर वह सेक्‍युलर हो गए हैं।

महाराष्‍ट्र के राज्‍यपाल भगत सिंह कोश्‍यारी ने
चिट्ठी में लिखा है कि दुर्भाग्‍य है कि उस मशहूर ऐलान के चार महीने बाद भी आपने एक बार फिर पूजा स्‍थलों पर लगा बैन बढ़ा दिया है। यह विडंबना है कि एक तरफ सरकार ने बार, रेस्टोरेंट ओर समुद्री बीच खोल दिए हैं वहीं दूसरी तरफ देवी-देवता लॉकडाउन में रहने को अभिशप्‍त हैं। राज्यपाल कोश्‍यारी ने मुख्यमंत्री ठाकरे को कहा, ‘आप हिंदुत्‍व के सशक्‍त पैरोकार रहे हैं। मुख्‍यमंत्री बनने के बाद अयोध्‍या जाकर आपने श्रीराम के प्रति अपने समर्पण को सार्वजनिक किया। आप अषाढ़ी एकादशी को पंढरपुर के विट्ठल रुक्मिणी मंदिर गए और पूजा की। पर मुझे हैरानी है कि क्‍या धर्मस्‍थलों का खोलना टालते जाना है… क्‍या कोई ऐसा देव आदेश आपको मिला है, या फिर आप अचानक ‘सेक्‍युलर’ हो गए हैं, जिस शब्‍द से आपको नफरत थी?

राज्यपाल कोश्यारी द्वारा सेक्युलर कहे जाने पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पलटवार करते हुए प्रदेश के राज्यपाल कोश्यारी को जवाब देते हुए कहा कि जैसे अचानक से लॉकडाउन को लागू करना सही नहीं था। एक बार में इसे पूरी तरह से रद्द करना भी अच्छी बात नहीं होगी। सीएम उद्धव ठाकरे ने खुद को सेक्युलर कहे जाने पर राज्यपाल को कहा कि हां मैं हिंदुत्व का अनुसरण करता है, मेरे हिंदुत्व को आपसे सत्यापन की आवश्यकता नहीं है।

जानकारी के मुताबिक, मंगलवार को सैकड़ों बीजेपी कार्यकर्ताओं ने सिद्धिविनायक मंदिर के बाहर पहुंचे और मंदिर खुलवाने के लिए महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। बीजेपी कार्यकर्ताओं का कहना है कि महाराष्ट्र सरकार श्रद्धालुओं के लिए मंदिर नहीं खोल रही है जबकि सारी सेवाएं और अन्य प्रतिष्ठान सभी खोल दिए गए हैं।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close