Breaking NewsBusinessTechTop Newsदेशनई दिल्लीमहाराष्ट्रवायरलव्यापारसोशल मीडिया

राष्ट्रीय कामधेनु आयोग का दावा-गाय के गोबर से बनी चिप फोन से निकलने वाले रेडिएशन को‌ करेगी नियंत्रित

राष्ट्रीय कामधेनु आयोग ने गाय के गोबर से बना मोबाइल चिप लॉन्च करते हुए दावा किया है कि इससे मोबाइल हैंडसेट्स का रेडिएशन काफी हद तक कम हो जाता है। आयोग के अध्यक्ष वल्लभ भाई कथीरिया ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि ‘हमने देखा है कि मोबाइल के साथ रखते हैं तो रेडिएशन काफी हद तक कम हो जाता है। बीमारी से बचना है तो आगे आने वाले वक्त में यह भी काम आने वाला है।’ इसके साथ ही कामधेनु आयोग ने गाय के गोबर से बने कई दूसरे प्रॉडक्ट भी लॉन्च किए हैं, जिनका लक्ष्य इस दीवाली पर प्रदूषण कम करना बताया जा रहा है।

वल्लभ भाई कथीरिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में गोबर के दिए(दीपक), शुभ-लाभ और गोबर के चिप दिखाते हुए कहा कि ‘गाय के गोबर से सबकी रक्षा होगी। ये सबकुछ घर में आएगा तो घर रेडिएशन फ्री हो जाएगा।’

देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत बनाने के आह्वान को लेकर गंभीरता दिखाते हुए इस दीवाली पर चीन निर्मित उत्पादों का बहिष्कार सुनिश्चित करने और गाय के गोबर से बने दीयों और भगवान गणेश और लक्ष्मी की प्रतिमाओं सहित कई दूसरी सामग्रियों के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय कामधेनु आयोग ने ‘कामधेनु दीपावली अभियान’ चलाने की घोषणा की है।

उन्होंने कहा कि ‘गोमय गणेश अभियान’ की सफलता से उत्साहित होकर आयोग ने ‘गोमय दीपक’ को लोगों के बीच लोकप्रिय बनाने के लिए यह अभियान चलाने का संकल्प लिया है। उन्होंने कहा, ‘इस अभियान के तहत आयोग दीपोत्सव के दौरान गोबर और पंचगव्य के बहुआयामी उपयोग को प्रोत्साहित करने जा रहा है। दीप पर्व के लिए गोबर आधारित दीये, मोमबत्तियां, धूप, अगरबत्तियां, शुभ- लाभ , स्वास्तिक, समरानी, हार्डबॉर्ड, हवन सामग्री, भगवान गणेश एवं लक्ष्मी की प्रतिमाओं का निर्माण प्रारंभ हो चुका है।’

जानकारी के मुताबिक, कथीरिया ने बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार के उस बयान को आधार बनाया जिसमें उन्होंने कहा था कि कि वो आयुर्वेदिक कारणों से हर दिन गोमूत्र पीते हैं। कथीरिया ने कहा कि अब हमने एक शोध प्रोजेक्ट शुरू किया है। हम उन विषयों पर शोध करना चाहते हैं जिन्हें हम महज मिथक मानते हैं।

मीडिया से बात करते हुए राष्ट्रीय कामधेनु आयोग के अध्यक्ष ने कहा कि 500 से अधिक गौशालाएं एंटी रेडिएशन चिप बना रही हैं। इन्हें 50-100 रुपए में खरीदा जा सकता है। एक शख्स इन चिपों को अमेरिका में भी निर्यात कर रहा है जहां इसे करीब 10 डॉलर में बेचा जाता है।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close