Breaking NewsTop Newsक्राइमराजनीतिराजस्थानवायरलसोशल मीडिया

राजस्थान में जिंदा जलाए गए पुजारी के दाह संस्कार करने से परिवार ने किया इंकार, प्रशासन के सामने रखीं ये मांग

राजस्थान के करौली जिले में एक पुजारी को जिंदा जलाने की घटना के बाद राजस्थान सरकार की चौतरफा आलोचना हो रही है। बता दें कि इस घटनाक्रम को लेकर सियासत भी तेज हो गई है। वहीं पुजारी के परिवार ने पुजारी के शव का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया है। जानकारी के मुताबिक, परिवार की मांग है कि उन्हें जमीन का आवंटन किया जाए। साथ ही इस हत्याकांड के बाद उनके परिवार से एक बच्चे को नौकरी दी जाए। बता दें कि स्थानीय पुलिस ने हत्या के मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

स्थानीय पुलिस की गिरफ्त में मुख्य आरोपी कैलाश मीणा

पुजारी को जिंदा जलाकर मारने के इस घटनाक्रम पर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने गहलोत सरकार की घोर निंदा की है। वहीं सतीश पूनिया ने गहलोत सरकार को सवालों के घेरे में लाकर बीजेपी की ओर से तीन सदस्यीय कमेटी का गठन करवाया है। इसके अलावा प्रदेश बीजेपी के शीर्ष नेताओं के पीड़ित परिवार से मिलने का सिलसिला भी जारी है। पूर्व केन्द्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ और दौसा राज्यसभा सांसद डॉ. किरोड़ी लाल मीणा ने भी परिवार से मुलाकात की है।

बूकना गांव के लोगों के साथ धरने पर बैठे हुए सांसद किरोड़ीलाल मीणा

बता दें कि राजस्थान के करौली जिले के सपोटरा क्षेत्र के बूकना गांव में मंदिर की भूमि पर कब्जा करने को लेकर कुछ दबंगों ने एक पुजारी पर पेट्रोल छिड़क कर जिंदा ही जला दिया था। जिसके बाद जयपुर में एसएमएस अस्पताल में उपचार के दौरान गुरुवार शाम सात बजे पुजारी की मौत हो गई। पुलिस ने मुख्य आरोपी कैलाश मीणा को गिरफ्तार कर लिया है।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close