Breaking NewsTop Newsउत्तर प्रदेशक्राइमदेशबिहारराजनीतिवायरलसोशल मीडिया

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज गैंगरेप केस में फरार चल रहा बीजेपी नेता गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में गैंगरेप के आरोप में नामजद बीजेपी नेता को आखिरकार गिरफ्तार कर लिया गया है। एक छात्रा ने बीजेपी नेता श्याम प्रकाश द्विवेदी और डॉक्टर अनिल द्विवेदी पर गैंगरेप का आरोप लगाया था। दोनों के खिलाफ प्रयागराज के कर्नलगंज थाने में मामला दर्ज कराया गया था । पुलिस ने पीड़िता की शिकायत के बाद डॉ अनिल कुमार द्विवेदी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया लेकिन श्याम प्रकाश द्विवेदी फरार चल रहा था। श्याम प्रकाश द्विवेदी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस कई जगहों पर दबिश दे रही थी। प्रयागराज के जॉर्जटाउन इलाके से गैंगरेप के आरोपी बीजेपी नेता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

बेली इलाके की रहने वाली छात्रा के पिता की मौत के बाद उसे आर्थिक मदद के नाम पर आरोपी डॉक्टर अनिल द्विवेदी ने श्याम प्रकाश द्विवेदी से मिलवाया था। इसके बाद आरोपी बीजेपी नेता ने कुछ आर्थिक मदद की। मेल-जोल बढ़ाने के बाद दोनों ने रेप किया। पीड़िता ने 2019 से लेकर 2020 तक शारीरिक शोषण का आरोप लगाते हुए गैंगरेप की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया था।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ गैंगरेप का आरोपी श्याम प्रकाश द्विवेदी (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश पुलिस के मुतबिक पीड़िता से आरोपियों का संपर्क एक जमीन के सिलसिले में हुआ था। मेल-जोल बढ़ने पर दोनों ने शहर के अलग-अलग इलाकों में पीड़िता का कथित रूप से यौन शोषण किया। पीड़ित लड़की का मेडिकल कराया गया था। मैजिस्ट्रेट के सामने 164 के तहत बयान भी दर्ज हो चुके हैं। छात्रा ने आरोप लगाया कि दोनों आरोपियों ने मार्च महीने में भी घर में घुसकर उसके साथ गैंगरेप किया था और आरोपियों ने पीड़ित परिवार को पुलिस में शिकायत न करने को लेकर धमकी भी दी थी। चौतरफा शिकंजा कसने के बाद से आरोपी श्याम प्रकाश फरार चल रहा था। गिरफ्तारी के बाद उसे अदालत में पेश किया गया। कोर्ट ने आरोपी बीजेपी नेता को न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

बता दें कि आरोपी श्याम प्रकाश द्विवेदी 2014 से 2016 तक भारतीय जनता युवा मोर्चा का क्षेत्रीय उपाध्यक्ष काशी प्रांत रहा है। बीजेपी नेता के पिता रामरक्षा द्विवेदी प्रयागराज के बीजेपी जिलाध्यक्ष रह चुके हैं। आरोपी होटल व्यवसाय से जुड़ा हुआ है और बीजेपी संगठन से जुड़े स्थानीय कार्यक्रमों में सक्रिय रहता था। हालांकि परिवार ने श्याम प्रकाश द्विवेदी पर लगे रेप के आरोप को गलत बताया था। परिजनों का कहना है कि नैनी के एग्रीकल्चर इंस्टिट्यूट (शुआट्स) में धर्मांतरण का मुद्दा उठाने और संस्थान के संचालक पर एफआईआर कराने की वजह से श्याम प्रकाश को फंसाया जा रहा है।

गैंगरेप केस में बीजेपी नेता का नाम सामने आने के बाद विपक्ष लगातार आक्रामक रुख अपनाए हुए था। आरोपी के फरार होने को मुद्दा बनाकर विपक्ष के लोगों ने सुभाष क्रॉस पर बीजेपी युवा नेता श्याम प्रकाश के पोस्टर भी लगाए थे। जानकारी के मुताबिक, आरोपी अनिल द्विवेदी को पिछले हफ्ते ही गिरफ्तार कर लिया गया था। एसपी सिटी दिनेश सिंह ने कहा है कि मामले में चार्जशीट जल्द से जल्द दाखिल की जाएगी, ताकि आरोपियों को जल्दी सजा दिलाई जा सके।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close