Breaking NewsTop NewsTravelउत्तर प्रदेशक्राइमदेशनई दिल्लीबिहारराजनीतिवायरलसोशल मीडिया

हाथरस गैंगरेप मामले में पैदल यात्रा के दौरान धक्का-मुक्की में चोटिल हुए राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को यूपी पुलिस ने किया गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश के हाथरस में गैंगरेप पीड़िता के परिवार से मिलने जा रहे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और उत्तर प्रदेश कांग्रेस पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को यूपी पुलिस ने गुरुवार दोपहर को गिरफ्तार कर लिया। जानकारी के मुताबिक, राहुल गांधी ने यूपी पुलिस पर धक्का-मुक्की करने का भी आरोप लगाया है। राहुल गांधी ने दावा किया है कि पुलिस ने उन्हें लाठी से मारकर गिराया है। पुलिस के लाठीचार्ज करने के बाद राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश में जंगलराज होने का दावा करते हुए कहा है कि उन्हें अहंकारी सरकार की लाठियां रोक नहीं सकतीं हैं।

कांग्रेस पार्टी ने कुछ तस्वीरें जारी करते हुए दावा किया है कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को रोकने के लिए उनके साथ धक्का-मुक्की की, जिस कारण वो जमीन पर गिर गए। कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक, दोनों नेताओं के काफिले को ग्रेटर नोएडा पुलिस ने रोक लिया था। उसके बाद वे पैदल ही हाथरस के लिए निकल गए। कुछ देर पैदल चलने के बाद पुलिस ने उन्हें फिर रोक दिया और गिरफ्तार कर लिया।

प्रियंका गांधी वाड्रा ने दावा किया है कि जब तक यूपी सरकार को झकझोरा और जगाया नहीं जाएगा तब तक वह महिला सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कुछ नहीं करने वाली है। कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी ने कहा कि हाथरस सामूहिक बलात्कार की घटना बहुत अन्यायपूर्ण थी और उसके बाद सरकार ने शव के अंतिम संस्कार में जो किया वह तो और भी बड़ा अपमान था।

 

कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ”मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, दुख की घड़ी में अपनों को अकेला नहीं छोड़ा जाता। उत्तर प्रदेश में जंगलराज का ये आलम है कि शोक में डूबे एक परिवार से मिलना भी सरकार को डरा देता है। इतना मत डरो, मुख्यमंत्री महोदय!

राज्य सरकार के प्रवक्ता कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा पर निशाना साधते हुए कहा, ”ये जो भाई-बहन दिल्ली से चले हैं, उन्हें राजस्थान जाना चाहिये था। जहां भी ऐसी घटना होती है, वह जघन्य अपराध होता है। राजस्थान में भी वारदात हुई थी, मगर कांग्रेस हाथरस की घटना पर गंदी राजनीति कर रही है।” उधर, हाथरस जिलाधिकारी पी.के. लक्षकार ने बताया कि जिले में सीआरपीसी की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी गयी है जो आगामी 31 अक्टूबर तक प्रभावी रहेगी। जिले की सभी सीमाएं सील कर दी गई हैं।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close