Breaking NewsGamesTop NewsWorldदेशवायरलसमय विशेषसोशल मीडियाहरियाणा

सोनीपत के 7 वर्षीय छौरे ने लगाए 1 मिनट में 500 बॉक्सिंग पंच, एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में हुआ नाम दर्ज

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के चलते देशभर में घोषित लॉकडाउन के दौरान जहां हर उम्र के लोग घरों में कैद थे। बड़ी उम्र के लोग कोविड-19 की गंभीरता को समझते हुए घर से बाहर निकलने में हिचकते रहे हैं किन्तु छोटे बच्चे समझाने के बाद भी घरों से बाहर निकलकर खेलने की कोशिश में लगे रहते थे। एजुकेशन सिटी सोनीपत के रहने वाले नेशनल एथलीट रहे संजय मलिक ने आपदा में अवसर देखते हुए अपने 7 वर्षीय बेटे को बॉक्सिंग किट लाकर दे दी ताकि बच्चा लॉकडाउन के चलते ज्यादा चिड़चिड़े स्वभाव का ना हो जाए। अब इस 7 वर्षीय मॉर्टिन मलिक ने 1 मिनट में 500 से अधिक पंच लगाते हुए एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करवा लिया है।

लॉकडाउन में घर पर रहकर छत पर ही दौड़ लगाता हुआ मार्टिन मलिक

मूलरूप से बिधल गांव और अब सोनीपत जिले के अशोक विहार कॉलोनी में रह रहे 7 वर्षीय बच्चे मॉर्टिन मलिक ने लॉकडाउन के दो महीनों में बॉक्सिंग पंच पर प्रेक्टिस करते हुए 2 सितंबर को इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में अपना नाम दर्ज करवाया था और अब एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में भी नाम दर्ज करवाने में सफल रहे हैं। एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स की तरफ से मॉर्टिन मलिक को एक सर्टिफिकेट और मेडल भेजा गया है। एशिया बुक टीम की तरफ से बॉक्सिंग पंच लगाते हुए वीडियो तैयार करवाई गई तथा कुछ अन्य जरूरी डिटेल ली गई। इसके बाद अब एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स की तरफ से मेडल और सर्टिफिकेट भेजा गया है। गौरतलब है कि मार्टिन के पिता संजय मलिक भी नेशनल एथलीट रहे हैं। जिसके लिए 100 मीटर दौड़ में वे नेशनल मेडल हासिल कर चुके हैं।

प्रैक्टिस के बाद अपने ऐब्स दिखाते हुए मार्टिन मलिक

एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड बनाने वाले मार्टिन के पिता संजय मलिक ने बताया कि लॉकडाउन के चलते सब घरों में बंद हो गए थे। इससे समाज में बहुत से बच्चों के चिड़चिड़े होने की ख़बरें आने लगी थीं। हमारा बच्चा भी तनाव में आकर चिड़चिड़ा ना हो जाए इसके लिए मैंने बच्चे के मांगने पर बॉक्सिंग के पंचिंग ग्लॉब्ज ला कर दे दिए। लॉकडाउन के कारण प्रेक्टिस करने के लिए घर पर ही पूरा सेट लगाया गया। मार्टिन हर दिन बॉक्सिंग पंच लगाकर प्रेक्टिस करता था। एक दिन मार्टिन के पिता यह देखकर हैरान रह गए कि उसकी पंचिंग स्पीड बहुत तेज है। इस पर उन्होंने पंचिंग को रिकॉर्ड किया तो मालूम हुआ कि मार्टिन ने 1 मिनट में 500 से अधिक पंच लगा दिए हैं। जिसके बाद उन्होंने इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में बच्चे का नाम भेजने का फैसला किया।

मॉर्टिन मलिक सोनीपत के सुभाष स्टेडियम में फेंसिंग प्रशिक्षक सत्येंद्र कुमार के पास प्रशिक्षण एवं जर्नल फिटनेस का प्रशिक्षण ले रहा है। बता दें कि मार्टिन मलिक(7) ने एक मिनट में 500 पंच लगाए हैं, जो अब एक नया रिकाॅर्ड बन गया है। इससे पहले उत्तर प्रदेश निवासी विनोद राणा (35) के नाम एक मिनट में 360 पंच लगाने का रिकॉर्ड दर्ज था।

✍️ रिपोर्ट: दिनेश दिनकर

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close