Breaking NewsTop Newsउत्तर प्रदेशदेशराजनीतिवायरलसोशल मीडिया

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का बड़ा फैसला, तीन महीने में भर्ती पूरी कर छह महीने में दे देंगे अप्वाइंटमेंट लेटर

देश में बढ़ रही बेरोजगारी सामाजिक स्तर पर एक असंतुलन पैदा करती है जिससे देश की आर्थिक और सामाजिक परिस्थितियों में दूरी देखने को मिलती है। इन्हीं बातों पर गौर करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक बड़ा फैसला लिया है। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी आयोगों और भर्ती बोर्डों से खाली पदों का ब्योरा मांगा है। जिसके बाद सीएम योगी ने कहा है कि अगले तीन महीने में सभी पदों पर भर्ती प्रक्रिया पूरी कर ली जाए तथा छह महीने में चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र मिल जाने चाहिए।

अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने जानकारी देते हुए बताया कि सीएम योगी ने लोकभवन में वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक ली। इस दौरान सीएम योगी ने सभी विभागों से तत्काल ख़ाली पदों का ब्योरा देने के लिए कहां है। उन्होंने कहा कि अब तक हुई 3 लाख भर्तियों की तरह ही पारदर्शी तरीक़े से अगले तीन महीने में भर्ती प्रक्रिया शुरू करें और छह महीने में नियुक्ति पत्र बंट जाए। अवनीश अवस्थी ने आगे बताया कि सीएम योगी जल्द ही सभी आयोगों और भर्ती बोर्डों के प्रमुखों से भी बैठक करेंगे और हकीकत जानेंगे। उन्होंने बताया कि सरकारी भर्तियों को लेकर सीएम योगी गंभीर हैं, कहा – जिस प्रकार यूपी लोकसेवा आयोग एवं अन्य सरकारी भर्तियां हुई हैं उसी पारदर्शी व निष्पक्ष तरीके से आगे भी सभी भर्तियों में तेजी बनाए रखना चाहते हैं। जानकारी के मुताबिक, प्रदेश के 84 विभागों में तीन लाख से अधिक पद खाली पड़े हैं।

समायोजित होंगे ग्राम रोजगार सेवक
बता दें कि उत्तर प्रदेश में योगी सरकार द्वारा नगरीय निकाय सीमा में शामिल की गईं ग्राम पंचायतों के कारण बेरोजगार हुए 700 से अधिक ग्राम रोजगार सेवकों को अन्य ग्राम पंचायतों में रिक्त पदों पर समायोजित करने का निर्णय किया है। ग्राम्य विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह ने जिलाधिकारियों को ग्राम पंचायत की सहमति से समायोजन कराने के निर्देश दिए हैं। नगर निगमों के सीमा विस्तार और नए नगरीय निकाय गठित होने से बेरोजगार हुए ग्राम रोजगार सहायक लंबे समय से समायोजन की मांग कर रहे थे।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close